पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इनसे सीखें:शेखुपुरा और सैनी माजरा के ग्रामीणों की जागरुकता से गांव में नहीं पहुंचा कोरोना

छछरौली25 दिन पहलेलेखक: रामकिशन कश्यप
  • कॉपी लिंक
छछरौली |शेखुपुरा में मास्क लगाकर बैठा परिवार। - Dainik Bhaskar
छछरौली |शेखुपुरा में मास्क लगाकर बैठा परिवार।
  • संक्रमण से बचाव को घर में भी मास्क लगाकर रखते हैं लोग

कोरोना की दूसरी लहर में ग्रामीण इलाके भी इसकी चपेट में आने से नहीं बच पाए। हर गांव में केस आए, लेकिन छछरौली खंड के दो गांव में ऐसे हैं, जिसमें एक भी कोरोना का केस नहीं मिला। गांव शेखुपुरा और गांव सैनी माजरा में अभी तक कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित नहीं मिला। शेखुपुरा और सैनी का माजरा की 300-300 की आबादी है।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगाए गए समय समय पर शिविर का प्रत्येक ग्रामीण ने फायदा उठाया और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों और सरकार द्वारा जारी आदेशों की सख्ती से पालना भी की गई। स्वास्थ्य विभाग के हेल्थ इंस्पेक्टर धर्मपाल ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र छछरौली के 70 गांव आते हैं। गांव शेखुपुरा और सैनी माजरा में कोरोना संक्रमण का कोई भी मामला सामने नहीं आया है। जबकि छछरौली खंड के प्रत्येक गांव में कोरोना संक्रमण का मामला मिला है।

इसी प्रकार प्रताप नगर खंड के भी लगभग सभी गांव में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रताप नगर के मुख्य चिकित्सा डॉ. परमिंदर पाल ने बताया कि प्रताप नगर सीएचसी के अंतर्गत ऐसा कोई गांव नहीं बचा है, जहां पर कोरोना के मामले न आए हों।

ग्रामीणों ने रिश्तेदाराें के पास जाना तक छोड़ दिया था

शेखपुरा के निवर्तमान पंचायत सदस्य राजेश कुमार, अमर सिंह और बाबूराम ने बताया कि उनके गांव में लगभग 60 घर हैं, जिनकी आबादी लगभग 300 है। गांव में स्वास्थ्य विभाग और सरकार द्वारा जारी आदेशों का सख्ती से पालन किया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगाए गए प्रत्येक जागरुकता शिविर में ग्रामीणों ने भाग लेकर जानकारी जुटाई।

गांव सैनी माजरा में भी लगभग 50 घरों की आबादी तीन सौ के आसपास है। गांव के लोग जागरूक हैं और घर में भी मास्क लगाकर रखते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि आशा वर्कर और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी द्वारा समय-समय पर गांव में जागरुकता कैंप लगाकर ग्रामीणों को जागरूक किया गया। इसके साथ ही रिश्तेदारों का आना जाना कम किया। बच्चे हों या फिर बड़े सभी बार-बार हाथ धोते हैं।

खबरें और भी हैं...