पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

माजरा में टूटी पटरी की मरम्मत 24 घंटे बाद शुरू:पानी के तेज बहाव में टूट गई थी पटरी, मरम्मत के लिए मिट्टी के लिए कर्मियों को आई परेशानी

छछरौली22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
छछरौली |बरौली माजरा में क्षतिग्रस्त पटरी को रिपेयर करते कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
छछरौली |बरौली माजरा में क्षतिग्रस्त पटरी को रिपेयर करते कर्मचारी।

बरौली माजरा में टूटी सिंचाई विभाग की पटरी की रिपेयर का कार्य पटरी टूटने के 24 घंटे बाद काफी जद्दोजहद के बाद शुरू कर दिया गया। सिंचाई विभाग के अधिकारियों को टूटी पटरी पर मिट्टी डालकर बंद करने के लिए वन विभाग और पटरी के आसपास स्थित किसानों के साथ काफी जद्दोजहद करने के बाद पंचायती गोहर से मिट्टी उठाकर पटरी को रिपेयर किया गया।

बता दें कि मंगलवार काे बरौली माजरा में बाढ़ के पानी से खेतों के पास बनी सिंचाई विभाग की पटरी टूट गई थी, जिससे पटरी के आसपास लगते खेतों में बाढ़ का पानी घुसने से फसलें खराब हो गई।

बरौली माजरा के ग्रामीण पवन सैनी ने बताया कि उनके खेतों के पास बनी सिंचाई विभाग की पटरी मंगलवार सुबह टूट गई थी, जिसके बाद उन्होंने सिंचाई विभाग, प्रशासनिक अधिकारियों व पुलिस को सूचित किया था। कई बार फोन पर सूचना देने के बाद उनके खेतों के पास टूटी पटरी को सिंचाई विभाग के अधिकारी देखने आए।

उन्होंने बताया कि जिस समय सिंचाई विभाग के अधिकारी पटरी को देखने आए थे उस समय पटरी का कुछ हिस्सा ही क्षतिग्रस्त हुआ था। लेकिन कई घंटे बीत जाने के बाद भी मौके पर कोई कर्मचारी या अधिकारी नहीं पहुंचा, जिससे पटरी का लगभग 15 फुट का हिस्सा क्षतिग्रस्त होता चला गया और बाढ़ का पानी उनके खेतों से निकलकर गांव की तरफ रुख कर गया।

24 घंटे बीत जाने के बाद सिंचाई विभाग के अधिकारी बरौली माजरा में क्षतिग्रस्त पटरी को ठीक करने पहुंचे, जिसके लिए सिंचाई विभाग के अधिकारी वन विभाग की जमीन में से मिट्टी उठाने लगे, लेकिन वन विभाग के कर्मियाें ने उन्हें रोक दिया और पास लगते खेतों के मालिकों ने भी अपने खेतों से मिट्टी उठाने के लिए जवाब दे दिया, जिसके बाद किसानों के खेतों के साथ लगते पंचायती गाेहर से इस शर्त पर मिट्टी उठाई गई कि सिंचाई विभाग द्वारा हालात स्थिर होने के बाद इस पंचायती गाेहर को ठीक करवा दिया जाएगा।

इस बारे वन राजिक अधिकारी कलेसर कुलदीप सिंह ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि बरौली माजरा में वन विभाग की जमीन से मिट्टी उठाने का प्रयास किया जा रहा है जिस पर उन्होंने मौके पर कर्मचारियों को भेज मिट्टी उठाने का कार्य रुकवा दिया गया, क्योंकि जिस जगह से मिट्टी उठाने का प्रयास किया जा रहा था, वह एरिया रिजर्व फॉरेस्ट का है।

बरौली माजरा में क्षतिग्रस्त हुई पटरी की रिपेयर के लिए मिट्टी की आवश्यकता थी। लेकिन समय पर मिट्टी न मिलने के कारण रिपेयर के कार्य में देरी हुई फिर भी मिट्टी मिलने पर बरौली माजरा में क्षतिग्रस्त रिपेयर करवा दी गई है।
विकास धीमान, एसडीओ, सिंचाई विभाग, प्रताप नगर

खबरें और भी हैं...