पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सफाई बनाए रखने पर जोर:बिदक्यार झील में कचरा गिराने वालों पर नजर रखेंगे 2 सिक्योरिटी गार्ड, राेजाना हो रही सफाई

कैथलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कैथल, बिदक्यार झील  से कचरा निकालते कर्मचारी । - Dainik Bhaskar
कैथल, बिदक्यार झील से कचरा निकालते कर्मचारी ।

करीब 16 एकड़ में फैली बिदक्यार झील की सफाई व्यवस्था बनाए रखने के लिए झील से प्रतिदिन कचरे को निकालने का काम होगा। इसके लिए पांच कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई है। वहीं दो सिक्योरिटी गार्ड की ड्यूटी झील के किनारों पर सुबह व शाम के समय लगाई गई है।

सिक्योरिटी गार्ड कचरे को डस्टबिन में डालने के लिए लोगों से कहेंगे। क्योंकि सुबह व शाम के समय लोग सैर-सपाटे के लिए पार्क में आते हैं। उसी समय खाने-पीने के बाद बोतले व खाद्य सामग्री के पैकेट डस्टबिन में डालने की बजाए झील में डाल देते हैं। जिससे झील में कचरा फैल जाता है।

वहीं शहरवासियों की मांग है कि झील का पानी बदला जाए। चिल्ड्रन और जवाहर पार्क में प्रतिदिन आने वाले प्रेमी जोड़ों से यहां तैनात सिक्योरिटी गार्ड और अन्य कर्मचारी परेशान हैं। जब उन्हें टोका जाता है, तो वे झगड़ना करने लगते हैं। यहां तैनात कर्मचारी मौनू ने बताया कि युवा-युवतियों को बार-बार चेताया जाता है।

चिल्ड्रन पार्क वाले हिस्से में बिदक्यार झील में बोटिंग की भी सुविधा
चिल्ड्रन पार्क वाले हिस्से में बिदक्यार झील में बोटिंग की भी सुविधा है। यहां पर प्रति व्यक्ति 50 रुपए चार्ज लेकर आधा घंटा तक बोटिंग करने की छूट दी जाती है। छुटिट्यों के दिनों में यहां काफी लोग बोटिंग के लिए आते हैं। लेकिन इस बार कोरोना के कारण टेंडर लेने वाली एजेंसी को फायदा नहीं हुआ, क्योंकि पार्कों में लोग कम ही सैर करने के लिए आए।

वहीं अब भी कोरोना लगातार बढ़ रहा है। होली व फाग पर छुट्टी के बाद भी सार्वजनिक तौर पर होली मनाने और अधिक लोगों का एक साथ एकत्र होने पर सरकार लगातार रोक लगा रही है। जिससे पार्क में बोटिंग के लिए कम ही लोग आते हैं।

ईओ के आदेश के बाद बदली व्यवस्था
15 मार्च को नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी बलबीर सिंह ने चिल्ड्रन और जवाहर पार्क का निरीक्षण कर झील से प्रतिदिन कचरा निकालने, पार्क की सफाई व्यवस्था बेहतर करने के निर्देश दिए थे। उसके बाद से ही झील से कचरा निकाला जाता है। लेकिन इसमें यहां सैर करने आने वाले लोगों को भी अपनी जिम्मेदारी समझते हुए झील में कचरा नहीं डालना चाहिए। इससे झील साफ रहेगी और लोगों को भी झील के किनारे सैर करने का आनंद आएगा।

झील में प्रतिदिन सफाई करवाई जा रही है। गीला कचरा निकाल कर किनारे पर कुछ देर के लिए सूखाया जाता है। उसके बाद उसे उठा लिया जाता है। कोई पानी में कचरा न डाले, उसके लिए सिक्योरिटी गार्ड की सुबह व शाम को झील किनारे ड्यूटी लगाई है।-बलबीर सिंह, एजेंसी संचालक

झील की सफाई के लिए आदेश दिए गए हैं। पब्लिक की शिकायत आई तो फिर से एक्शन लेंगे। कुछ दिनों बाद वे भी पार्क में जाकर स्थिति देखेंगे।-बलबीर सिंह, कार्यकारी अधिकारी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

    और पढ़ें