पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिला पुलिस ने चलाया डे-डोमिनेशन:600 पुलिस कर्मियों ने नाके व गश्त कर संदिग्ध वाहनों और लोगों की जांच की

कैथलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कैथल | डे-डोमिनेशन के दौरान चेकिंग करते पुलिस कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
कैथल | डे-डोमिनेशन के दौरान चेकिंग करते पुलिस कर्मचारी।
  • सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक चला डे-डोमिनेशन
  • शहर में हर चौक पर पुलिस रही तैनात, कोरोना से बचाव के लिए किया जागरूक

एसपी लोकेंद्र सिंह के नेतृत्व में जिला पुलिस ने आम जनता में सुरक्षा भावना बढ़ाने के उद्देश्य को लेकर डे-डोमिनेशन अभियान के तहत पुलिस दृश्यता दिवस मनाया। इस दौरान सुबह 9 बजे से दोपहर बाद 3 बजे तक करीब 600 पुलिस कर्मचारी-अधिकारियों ने सड़को पर पैदल गश्त करने के अतिरिक्त विभिन्न स्थानों पर नाकाबंदी करके संदिग्ध व्यक्तियों और वाहनों की जांच की। इस दौरान पुलिस ने नागरिकों को कोरोना संक्रमण से अपना व अपने परिवार का बचाव करने के लिए भी जागरूक किया।

पुलिस प्रवक्ता प्रवीण श्योकंद ने बताया कि 18 जून को एसपी लोकेंद्र सिंह के मार्गदर्शन में जिला के सभी डीएसपी ने अपने अधिकार क्षेत्र में थाना प्रबंधक, चौकी इंचार्ज व पीसीआर और राईडर्स का नेतृत्व करते हुए सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे डे-डोमिनेशन अभियान चलाया।

इस दौरान तक क्षेत्र में चिहिंत किए गए संवेदनशील बिंदुओ पर नाके लगाकर वाहनों की जांच की और क्षेत्र में पैदल गश्त की गई। इस दौरान पुलिस ने अपराध पर अंकुश लगाने के लिए आम जनता से मधुर संवाद करते हुए समन्व्य स्थापित किया गया। कार्यालय पुलिस अधीक्षक के कर्मचारियों समेत जिला के सभी थाना-चौंकियों से पुलिस दिनभर सड़को पर गश्त करती रही।

जिस दौरान थाना शहर व थाना सिविल लाइन पुलिस के अधिकतर कर्मचारी व अधिकारियों ने पिहोवा चौक, कमेटी चौक, रेलवे गेट, पुराना बस स्टैंड, भगत सिंह चौंक, नागरिक अस्पताल, हनुमान वाटिका के आसपास, मंदिरों, अनाज मंडी तथा मार्किट में पैदल गश्त की गई। इसके अतिरिक्त अन्य सभी थाना प्रबंधक व चौकी इंचार्ज द्वारा भी अपने-अपने क्षेत्र के कस्बों व गांव में पुलिस दृश्यता मुहीम के दौरान पुलिस की मौजूदगी दिखाकर आमजन में सुरक्षा की भावना पैदा की गई।

मास्क बांटकर कोरोना से बचने को किया जागरूक
जिला पुलिस के सभी थाना प्रबंधक व चौकी प्रभारियों द्वारा अपने-अपने क्षेत्र में सार्वजनिक स्थानों पर बगैर मास्क लगाए घूम रहे नागरिकों को निशुल्क मास्क वितरित करके उन्हें मास्क का निरंतर प्रयोग करने के लिए प्रेरित किया। पुलिस अधीक्षक लोकेंद्र सिंह के निर्देशानुसार अभियान के दौरान दुकानदारों, पैदल, बस के अंदर, कार व बाइक, रिक्शा तथा साइकिल पर जा रहे नागरिकों के अतिरिक्त क्षेत्र की बस्तियों में जाकर मास्क बांटे। जिस दौरान सभी लोगों को कोरोना स ंसंक्रमण से बचाव के लिए व्यापक तौर पर जागरुक करते हुए बताया गया कि वे समय-समय पर हाथों को सेनिटाइज करें और सोशल डिस्टेंस बनाकर रखें।

जनता से तालमेल बढ़ाने के लिए चलाया अभियान
प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस हर समय लोगों की सुरक्षा को लेकर तरह-तरह के अभियान चलाकर जानमाल की सुरक्षा का भरसक प्रयास करती है। अभियान का उद्देश्य महिलाओं व आम लोगों विशेषकर कमजोर वर्गों मध्य सुरक्षा की भावना पैदा करने सहित कानून-व्यवस्था को और अधिक मजबूत करना शामिल है। इस प्रकार के अभियान ना सिर्फ अपराधी तत्वों में भय पैदा होने कारण अपराध रोकने में कारगर साबित हो रहे है, बल्कि आमजन में सुरक्षा की भावना व पुलिस के प्रति विश्वास कायम करने में भी कारगर सिद्ध हो रहे है।

खबरें और भी हैं...