पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Kaithal
  • 6.30 Lakh Complaints Received On The CM Window In The Past Five And A Half Years, The Public Is Most Worried By The Police, The Panchayat Department Is Unhappy At Number Two

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आरटीआई से खुलासा:सवा पांच साल में सीएम विंडो पर आई 6.30 लाख शिकायतें, इनमें सबसे ज्यादा पुलिस से परेशान है जनता, दूसरे नंबर पर पंचायत विभाग से दुखी

कैथल10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीएम विंडो पर औसतन हर तीसरी शिकायत पुलिस के खिलाफ, कई जानकारियों का रिकॉर्ड ही नहीं

दिसंबर 2014 में शुरू की गई सीएम विंडो पर प्रदेशभर में औसतन हर दिन 328 शिकायतें दर्ज हो रही हैं। सीएम विंडो पर आने वाली शिकायतों को आधार माना जाए तो पुलिस के प्रति जनता में सबसे ज्यादा अविश्वास है, क्योंकि हर तीसरी शिकायत पुलिस के खिलाफ होती है। करीब सवा पांच साल में सीएम विंडो पर कुल 6,30,656 शिकायतें आई, इसमें अकेले पुलिस विभाग के खिलाफ 1,86,210 शिकायतें हैं जो कुल शिकायतों का 29.52 प्रतिशत है।

जो दर्शाता है कि सरकार व पुलिस भले ही सेवा, सुरक्षा, सहयोग के स्लोगन के साथ दावेेंं करती है, लेकिन जनता पुलिस की कार्यप्रणाली से संतुष्ट नहीं है। पंचायत विभाग के खिलाफ 81,515 शिकायतें आई, 48,549 शिकायतों के साथ स्थानीय शहरी निकाय तीसरे स्थान पर हैं। यह खुलासा आरटीआई के तहत मांगी गई सूचना से हुआ। जनकपुरी कॉलोनी कैथल निवासी आरटीआई एक्टिविस्ट मेहर चंद राविश ने हरियाणा मुख्यमंत्री कार्यालय से सीएम विंडो पर दर्ज शिकायतों व समाधान की सूचना मांगी थी।

सीएम विंडो से जनता कितनी संतुष्ट, इसका नहीं रिकॉर्ड: आरटीआई में पूछा गया था कि सरकार के ताजा सर्वे अनुसार सीएम विंडो की कार्यप्रणाली से जनता कितनी संतुष्ट है। मुख्यमंत्री शिकायत निवारण सैल इसका कोई जवाब नहीं दे सका। शिकायत के निवारण में लापरवाही बरतने पर कितने अफसरों, कर्मचारियों पर कार्रवाई की गई, इसका भी सैल के पास कोई रिकॉर्ड नहीं है।

2018 में आई सबसे ज्यादा शिकायतें
सीएम विंडो पर हर साल औसतन एक लाख से ज्यादा शिकायतें दर्ज होती है। वर्ष 2014 में एक सप्ताह में 3,383 शिकायतें दर्ज हुई। इसके बाद वर्ष 2015 में 1,11,430, 2016 में 97,484, 2017 में 1,33,098, 2018 में 1,34,784, 2019 में 1,24,462 व 2020 में 31 मार्च तक 26,015 शिकायतें दर्ज हुई। हालांकि कुल शिकायतों में से 6,06,033 शिकायतों के समाधान का दावा किया गया है। सूचना के तहत पहले साल दर्ज हुई सभी शिकायतों का समाधान किया जा चुका है, 2015 में 1,11,403, 2016 में 97,313, 2017 में 1,32,421, 2018 में 1,32,560, 2019 में 1,14,666 व 2020 में 14,287 शिकायतों का समाधान किया गया।

फर्जी हस्ताक्षर करके शिकायत निपटाने के भी आरोप: सीएम विंडो पर दी गई शिकायतों में शिकायतकर्ता के फर्जी हस्ताक्षर करके भी शिकायत बंद करने के आरोप लगते रहते हैं। मेहर राविश ने बताया कि उसने भी सीएम विंडो पर शिकायत की थी, लेकिन बिना समाधान किए ही उसे बंद कर दिया। दूसरी बार शिकायत की तो कहा गया कि आप ऐसी शिकायत पहले भी कर चुके हैं। मेहर का आरोप है कि काफी शिकायतों का निपटान बिना समाधान किए ही कर दिया जाता है। कुछ अधिकारियों ने सीएम विंडो को मजाक बनाकर रख दिया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

    और पढ़ें