11 माह में लगी 10 लाख डोज:6.50 लाख को लगी पहली डोज तो 3.50 लाख लोगों ने दोनों डोज लगवा सुरक्षा चक्र किया पूरा

कैथल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डोर-टू डोर वैक्सीनेशन के दौरान कंस्ट्रक्शन साइट पर पहुंचकर वैक्सीनेशन करती स्वास्थ्य कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
डोर-टू डोर वैक्सीनेशन के दौरान कंस्ट्रक्शन साइट पर पहुंचकर वैक्सीनेशन करती स्वास्थ्य कर्मचारी।

जिला में मंगलवार को 10 लाख वैक्सीन डोज लगाने का टारगेट पूरा हो गया है। यह वैक्सीनेशन अभियान के 11 माह में हो पाया है। इस दौरान 6.50 लोगों ने पहली डोज ली तो 3.50 लाख लोगों ने दोनों डोज लेकर कोरोना से बचाव के लिए सुरक्षा चक्र को पूरा कर लिय है। सबसे ज्यादा चिंता की बात यह है कि जिला में 1.61 लाख अब भी वैक्सीन की पहली डोज लेने से वंचित हैं।

हालांकि इन लोगों को वैक्सीन लगे। इसके लिए जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग प्रयासरत हैं। इसके लिए डोर-टू डोर वैक्सीनेशन अभियान भी चलाया गया है। लेकिन इसके बाद भी वैक्सीन से लेने से वंचित लोग आगे नहीं आ रहे। जिला में दूसरी डोज लेने वालों की पेंडेंसी भी अब लगातार बढ़ रही है। अब एक लाख से ज्यादा लोग ऐसे हैं जिन्होंने पहली डोज लेने के बाद दूसरी डोज समय पर नहीं ली है।

जानिए...अब तक जिला में किस कैटगरी के कितने लोगों ने लगवाई वैक्सीन की पहली व दूसरी डोज

जिला में 10 लाख वैक्सीन डोज लगाने का टारगेट मंगलवार को पूरा हो गया है। साढ़े 6 लाख ने पहली तो साढ़े 3 लाख लोगों ने दोनों डोज ली हैं।- डाॅ. आशीष, नोडल अधिकारी वैक्सीनेशन कैथल।

इधर, 101 लोग व विदेश से लौटे कुल संख्या हुई 335
जिला में विदेश से आने वालों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। मंगलवार को 101 लोग और विदेश से लौटे हैं और कुल संख्या अब 335 हो गई है। राहत की बात यह है कि अब तक विदेश से लौटा कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सैंपलिंग के बाद सभी होम आइसोलेशन में हैं।

राहत: कोरोना का नया केस नहीं, अब 1 एक्टिव
मंगलवार को भी कोरोना का कोई नया केस सामने नहीं आया है। अब 1 केस एक्टिव है जिसका होम आइसोलेशन में उपचार चल रहा है। जिला में अब तक तक कुल 11 हजार 248 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं जबकि 347 लोगों की कोरोना से जान जा चुकी है। वहीं मंगलवार को जिला में 6039 लोगों ने वैक्सीन की डोज लगवाई।

खबरें और भी हैं...