अगले माह होगा नप का सर्वे:केंद्रीय सर्वेक्षण से पहले नगर परिषद टीम करेगी शहर में स्वच्छ सर्वे

कैथल12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सफाई के मामले में कहां कमियां और कहां हो रहा बेहतर काम, शहर निवासियों से लेगी फीडबैक

स्वच्छता सर्वेक्षण-2022 के लिए केंद्रीय टीमें फरवरी माह में आनी थी लेकिन संक्रमण के अधिक फैलने के लिए ये प्रक्रिया देरी से हो सकती है लेकिन नगर परिषद स्थानीय स्तर पर स्वच्छता को लेकर शहरवासियों से फीडबैक लेगी। इससे कमियां व अच्छाइयां दोनों की जानकारी नप अधिकारियों के पास होंगी। ये सर्वे अगले माह होगा। उसके लिए एक टीम का गठन होगा। ये टीम शहर में सरप्राइज विजिट कर स्वच्छ सर्वे करेगी। ये सर्वे होटल, पार्क, स्कूल, कॉलेज, सामाजिक संगठनों के ऑफिस, मार्केट, छोटी दुकानों तक का निरीक्षण करेंगी।

इसके साथ ही टीम शहरवासियों को आने वाले स्वच्छ सर्वेक्षण-2022 के बारे में भी जागरुक करेगी। शहर वासियों से सफाई, कचरे से जैविक खाद बनाने, सफाई कर्मचारियों के व्यवहार को लेकर भी फीडबैक लेगी। इस सर्वे का उद्देश्य शहरवासियों को स्वच्छ सर्वेक्षण के बारे में तैयार करना तथा अपने स्तर पर फीडबैक मिलने पर कमियों को दूर करना होगा। हालांकि अभी स्कूल, कॉलेज बंद हैं।

ये चेक करेगी सर्वे टीम| नगर परिषद की टीम सरप्राइज विजिट कर हाइजिन, सेनिटेशन, वाटर टैंक, पीने का पानी, कंपोस्ट पिट, ग्रीन एरिया, बेसिक क्लीननेस व अन्य केटेगरी देखेगी। इसके अलावा सूखे व गीले कचरे को अलग करना, सिंगल यूज प्लास्टिक का प्रयोग न करना जैसे कामों को भी चेक किया जाएगा। बड़े होटलों के लिए पहले से ही नियम तय है कि वे अपने यहां निकलने वाले किचन वेस्ट से खाद बनाएं। हालांकि कम्पोस्ट पिट बनाने का काम कहीं-कहीं ही होता है। इस समय तो नप के कम्पोस्ट पिट ही बेकार हो रहे हैं।

वॉल पेंटिंग से कर रही जागरूक| नगर परिषद शहर में दीवारों पर वॉल पेटिंग कर स्वच्छता का संदेश दे रही है। इस बार नगर परिषद ने सर्वेक्षण के प्रचार-प्रसार के लिए प्लास्टिक का प्रयोग न करने का मन बनाया है जिस कारण इस बार बैनर तक नहीं छपवाए गए। इसके लिए पेंटिंग का सहारा लिया जा रहा है। वहीं बड़ी संस्थाओं को सिंगल यूज प्लास्टिक का प्रयोग न करने के लिए अपील की जा रही है। भंडारों में डिस्पोजल गिलास, प्लेट न प्रयोग करने के लिए भी कहा जा रहा है। वहीं गृहणियों को किचन वेस्ट से खाद बनाने के लिए भी प्रेरित किया जाएगा।

2021 के सर्वेक्षण में 304वां रैंक
स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 में कैथल नगर परिषद का रैंक 304वां रहा जबकि स्वच्छ सर्वेक्षण वर्ष 2020 में कैथल का देश में 199वां रैंक रहा था। 2019 में कैथल देश में 355वें और प्रदेश में 18वें रैंक पर रहा था। इसी प्रकार वर्ष 2018 में 301 वां, वर्ष 2017 में 282वां रैंक रहा।

आगामी माह में शहर में स्वच्छ सर्वे किया जाएगा। इससे स्वच्छ सर्वेक्षण-2022 में भी फायदा मिलेगा। -कुलदीप मलिक, कार्यकारी अधिकारी, नप, कैथल।

खबरें और भी हैं...