पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Kaithal
  • Central Government Employee Shown To Construction Worker, Somewhere The Name Of The Dead Girl Was Added To The ID, Then The Wife Was Removed From The ID Of The Husband.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फैमिली आईडी में खामियां:कंस्ट्रक्शन वर्कर को दिखाया सेंटर गवर्नमेंट एंप्लाई, कहीं मृत बच्ची का नाम आईडी में जोड़ा तो कहीं पति की आईडी से पत्नी को बाहर किया

कैथल13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्थानीय स्तर पर अधिकारी के पास नहीं फैमिली आईडी में बदलाव की पावर, दो बार बदलाव के बाद ऑप्शन हो जाते हैं लॉक

परिवार पहचान पत्र (फैमिली आईडी) में तकनीकी या मानवीय भूल के कारण गलती रह गई तो उसे ठीक करवाना संभव नहीं है क्योंकि सरकार ने ऐसा कोई ऑप्शन दिया नहीं है। न ही किसी अधिकारी के पास पावर है कि वो डॉक्यूमेंट के आधार पर बदलाव करने की परमिशन दे। फैमिली आईडी में दो बार डाटा में बदलाव के बाद सभी आप्शन लॉक हो जाते हैं। इससे आम आदमी परेशान हैं। कहीं पर आधार कार्ड नंबर गलत दर्ज होने पर पत्नी का नाम ही दर्ज नहीं हो पा रहा तो कहीं पर मृतक का नाम भी फैमिली आईडी में जोड़ दिया गया है।

किसी कंस्ट्रक्शन वर्कर को सेंटर एंप्लाई दर्ज कर दिया है। ऐसे लोग सीएससी के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन उनकी समस्या का कहीं हल नहीं हो पा रहा है। लोगों की मांग है कि सरकार ऐसा आॅप्शन दे, जिससे आईडी में बदलाव संभव हो सके। सीएमसी सेंटर चलाने वाले युवक ने बताया कि सबसे अधिक परेशानी, इंकम, व्यवसाय, दिव्यांग, कास्ट वाले ऑप्शन में आ रही है। नगर परिषद में ही कम से कम 20 लोग आईडी में गलतियों को ठीक करवाने के लिए आते हैं लेकिन उन्हें निराशा ही हाथ लगती है।

बच्ची के नाम का स्थान रिक्त
कैथल निवासी रामकुमार ने बताया कि उनके परिवार में जन्मी बच्ची का दो माह बाद ही मौत हो गई थी। उसका कोई डॉक्यूमेंट नहीं बना था। जब फैमिली आईडी बनवाई तो परिवार के सभी सदस्यों की दुरुस्त जानकारी दी गई थी। जब फैमिली आईडी को अपडेट करवाने गए तो पता चला कि जो बच्चा अब इस दुनिया में नहीं है, वह भी फैमिली आईडी में जोड़ा गया है। मृतक बच्ची की उम्र तीन साल दिखाई गई है जबकि उसके नाम का स्थान रिक्त है। इस गलती को ठीक करवाने के लिए कई बार सीएससी पर गए लेकिन आईडी में चेंज नहीं हो रहा है ।

सही जानकारी दर्ज नहीं की
नफे सिंह ने बताया कि फैमिली आईडी में न जाने किस तरह से सीएससी पर आधार कार्ड नंबर उसकी पत्नी की जगह किसी अन्य का दर्ज कर दिया। जिस कारण पत्नी चंद्रपति का नाम ही आईडी में दर्ज नहीं हो रहा है। एक सदस्य ही फैमिली आईडी से बाहर कर दिया । पीपीपी सही न होने से वो मेरी फसल मेरा ब्यौरा पर पंजीकरण नहीं करवा पा रहे हैं। सीएससी वाले कहते हैं कि अब इसमें बदलाव नहीं होगा। वहीं उन्होंने बताया कि किसान क्या इनकम दिखाए, इस बारे में भी स्पष्टता नहीं है क्योंकि किसान की आय एक जैसी नहीं होती है।

डाटा ठीक न होने से हो रही परेशानी
अमरगढ़ कॉलोनी के नवीन ने बताया कि जब उसने परिवार पहचान पत्र बनवाया तो सीएससी कर्मचारी ने उसकी पत्नी को मजदूर की बजाए सेंटर गवर्नमेंट एंप्लाई दर्ज कर दिया। उसे इस बात का पता बाद में चला। जब वह इसे ठीक करने गया तो सीएससी कर्मचारी ने बताया कि यह जल्दबाजी में हो गया। वह कई बार नगर परिषद के अधिकारियों के चक्कर लगा चुका है लेकिन यह डाटा ठीक नहीं हो पा रहा है जिससे वह परेशान है।

^परिवार पहचान पत्र में दो बार ही बदलाव हो सकता है। उसके बाद ऑप्शन बंद हो जाते हैं। लोग डाटा में बदलाव करवाने के लिए आते हैं, लेकिन ये ऐसा स्थानीय स्तर पर नहीं हो सकता है। सरकार ही कोई निर्णय ले सकती है।
धर्मवीर सिंह, सचिव एवं नोडल अधिकारी परिवार पहचान पत्र।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें