पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दिशा निर्देश:एनसीडी सर्वे का डेटा अपलोड न होने पर सीएचसी, पीएचसी इंचार्ज को फटकार, सिविल सर्जन बोले-आशा वर्कर्स को नहीं दे पा रहे मानदेय

कैथल20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • डाॅ. शैली ने पद संभालने के बाद पहली मासिक बैठक ली, कार्यों की समीक्षा के बाद दिए जरूरी दिशा निर्देश

सिविल सर्जन डाॅ. शैलेंद्र ममगाईं शैली ने पद संभालने के बाद पहली बार सभी सीएचसी, पीएचसी इंचार्जों की बैठक ली। कार्यों की समीक्षा करने के बाद इंचार्ज को जरूरी दिशा निर्देश भी दिए। उन्होंने एनसीडी (नॉन कम्युनिकेबल डिजिज) सर्वे का डेटा पोर्टल पर अपलोड नहीं किए जाने पर इंचार्ज को फटकार लगाई। इसको गंभीर प्रशासनिक चूक बताते हुए तुरंत प्रभाव से इंचार्ज को सर्वे का डेटा पोर्टल पर अपलोड किए जाने के आदेश दिए। ताकि संबंधित आशा वर्कर्स को इसके बदले मिलने वाला मानदेय दिया जा सके और कैंप लगाकर लोगों को स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ दिया जा सके।

इसके लिए स्टाफ की जरूरत पड़ने पर उन्होंने जिला प्रशासन के माध्यम से सक्षम कर्मचारियों की सेवाएं स्वास्थ्य संस्थाओं को उपलब्ध करवाने का आश्वासन भी दिया। क्षय रोग इंचार्ज डाॅ. संदीप बातिश ने भारत सरकार द्वारा क्षय रोग को 2025 तक मुक्त करने की नीति के बारे में कहा कि 12 से 17 जुलाई के दौरान अपने अपने हाई रिस्क क्षेत्रों में 2 सप्ताह से ज्यादा खांसी के लक्षण वाले व्यक्तियों की जांच करवाना सुनिश्चित करें। ताकि लक्ष्य को हासिल किया जा सके। डा. प्रदीप नागर ने निर्देश दिए कि वह अपने अपने क्षेत्र में लक्ष्य निर्धारित लाभार्थियों की रिपोर्ट तैयार करें और उसके मुताबिक उन्हें बचाव का टीका लगवाएं। 11 से 24 जुलाई के बीच राष्ट्रीय स्तर पर मनाए जा रहे विश्व जनसंख्या पखवाड़ा में अधिक से अधिक नसबंदी और नलबंदी के ऑपरेशन करवाएं।

खबरें और भी हैं...