गीता जयंती महोत्सव:जिला प्रशासन व सामाजिक संस्थाओं ने शहर में निकाली शोभायात्रा, , गीता पालकी में की पूजा-अर्चना

कैथलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शोभायात्रा में शामिल डीसी प्रदीप दहिया व विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के लोग। - Dainik Bhaskar
शोभायात्रा में शामिल डीसी प्रदीप दहिया व विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के लोग।

डीसी प्रदीप दहिया ने गीता जयंती महोत्सव के तीसरे दिन मंगलवार को सूरजकुंड माता गेट से मंत्रोच्चारण के बीच जिला प्रशासन एवं विभिन्न संस्थाओं द्वारा निकाली भव्य नगर शोभायात्रा को झंडी दिखाकर रवाना किया। उन्होंने श्रीकृष्ण कृपा सेवा समिति द्वारा निकाली गई गीता की झांकी में गीता प्रार्थना व पूजा अर्चना की। पूजा का मंगल कार्य सूरजकुंड के मंहत रमनपुरी द्वारा संत महात्माओं की उपस्थिति में करवाया गया। डीसी ने कहा कि गीता मार्ग से भटकने वाले लोगों को स्पष्ट मार्ग दिखाने में समर्थ है तथा ये पवित्र ग्रंथ सर्व मानव जाति का पथ प्रदर्शक है।
151 महिलाओं ने निकाली शोभायात्रा
शोभायात्रा में रथों पर सवार संत महात्माओं की अगुवाई में तीन बैंड, 151 महिलाओं की कलश यात्रा, 101-101 स्कूली लड़के व लड़कियां, श्री कृष्ण कृपा सेवा समिति की गीता पालकी, भगवान वाल्मीकि झांकी, स्वास्थ्य विभाग की झांकी,बर्फानी सेवा मंडल, नीलकंठ सेवा मंडल, वाल्मीकि सभा,खाटूश्याम, सदमार्ग परिवार, बिजली विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग की झांकी, खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग की झांकी में जिले के खिलाड़ियाें की उपलब्धियों व योजनाओं को प्रदर्शित करती झांकी शामिल थी।

शोभा यात्रा माता गेट से शुरू होकर सीवन गेट, डोगरा गेट, प्रताप गेट, चंदाना गेट, भगत सिंह चौक, छात्रावास रोड, पेहवा चौक से होती हुई वापिस भाई उदय सिंह किला परिसर में संपन्न हुई। भारत विकास परिषद, श्री ग्यारह रूद्री शिव मंदिर, अखिल भारतीय हिंदू महासंघ, संगमेश्वर महादेव सेवा मंडल, जयमाता बाला सुुंदरी सेवा समिति, सिख संगत, वाल्मीकि सभा, अनिल फलावर डेकोरेशन, पंजाबी सेवा सदन, सेवा संघ संस्था, गीता भवन मंदिर, पंजाबी वेल्फेयर सभा द्वारा स्वागत गेट / प्रसाद वितरित किया गया। इससे पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद सुरेश राविश व शिक्षा विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में भाई उदय सिंह किला परिसर पर दोपहर को स्कूली विद्यार्थियों द्वारा गीता के 18 श्लोकों का सामूहिक उच्चारण किया गया।

तीसरे दिन भी सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम, 500 स्कूली बच्चों ने गीता पाठ में लिया भाग

कैथल. जिला स्तरीय गीता जयंती महोत्सव के तीसरे दिन के सुबह के सत्र के सांस्कृतिक कार्यक्रम में हरियाणवी वाद्यों व राधा-कृष्ण के मनमोहक नृत्य और बेटी बचाओ विषय पर गीतों की धूम रही। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुरेश राविश ने बतौर मुख्य अतिथि कार्यक्रम का शुभारंभ किया व उनके साथ जिला शिक्षा अधिकारी अनिल शर्मा व डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह मौजूद रहे। इस सांस्कृतिक कार्यक्रम से पूर्व शिक्षा विभाग के माध्यम से पंडाल में मौजूद लगभग 500 विद्यार्थियों ने गीता पाठ किया तथा अाॅनलाइन शलाेकाेच्चारण से कैथल जिले के 50 स्कूलों के बच्चे जुड़े।

खबरें और भी हैं...