पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • Kaithal
  • EO Belle The Head Can Decide The Date And Time Of The Meeting, But According To The Rules, The Agenda Has To Be Sent To The Secretary, Secretary Belle I Have No Information About The Meeting

पार्षदों को एजेंडा अधिकारियों ने नहीं भेजा:ईओ बाेले-मीटिंग की डेट और टाइम तय कर सकते हैं प्रधान, लेकिन नियमानुसार सचिव को भेजना होता है एजेंडा, सचिव बाेले- मुझे मीटिंग के बारे कोई सूचना नहीं

कैथलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 18 जून की मीटिंग कैंसिल होने के बाद कार्यकारी प्रधान ने 20 जून दोपहर 3 बजे बुलाई मीटिंग

नगर परिषद के कार्यकारी प्रधान डाॅ. पवन थरेजा और नगर परिषद प्रशासन के बीच सदन की बैठक को लेकर टकराव की स्थिति बन गई है। 18 जून की मीटिंग कैंसिल होने के बाद कार्यकारी प्रधान ने 20 जून को फिर से मीटिंग तय कर दी है। यह मीटिंग नगर परिषद आंगन में दोपहर 3 बजे कोविड गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए की जाएगी। इस बारे में प्रधान की ओर से ईओ सहित सभी उच्चाधिकारियों को सूचना भेज दी गई है।

वहीं पत्र में लिखा है कि सभी संबंधित अधिकारी मीटिंग में उपस्थित रहें। अगर ऐसा नहीं हुआ तो अधिकारी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि अधिकारी बार-बार मीटिंग को टाल रहे हैं। लेकिन पार्षद चार जून से मीटिंग को लेकर प्रयासरत हैं। पहले कार्यकारी प्रधान ने देरी की अब अधिकारी नियमानुसार एजेंडा पार्षदों को भेज नहीं रहे हैं। मीटिंग में डोर-टू-डोर वर्क सहित सात एजेंडों पर चर्चा होगी। मीटिंग मान्य होगी या नहीं इस पर भी संशय बना हुआ है। एक्सपर्ट कहते हैं कि प्रधान मीटिंग बुला सकता है, जबकि अधिकारी कहते हैं कि नियमानुसार सूचना सहित एजेंडा सचिव भेजे तो ही सही।

मीटिंग तय एजेंडे पर होगी| पार्षद मोहन लाल शर्मा ने बताया कि मीटिंग नियमानुसार होगी। कार्यकारी प्रधान ने पार्षदों के सम्मान को बरकरार रखते हुए मीटिंग निकाली गई है। एमसी एक्ट-25 के तहत मीटिंग का एजेंडा तैयार है। नियमों को ताक पर रख कर किसी को भी नगर परिषद के अधिकारों को हनन नहीं करने दिया जाएगा। अगर कोई अधिकारी मीटिंग को लेकर लापरवाही बरतता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सभी पार्षदों को मीटिंग बारे सूचना भेज दी गई है।

एमसी एक्ट की धारा 25 के तहत प्रधान मीटिंग बुला सकते हैं। बेशक एजेंडा अधिकारी जारी करें या न करें।
सुरेंद्र रांझा, सीनियर एडवोकेट एवं पूर्व कार्यकारी प्रधान नगर परिषद, कैथल।

मुझे मीटिंग के बारे में कोई जानकारी नहीं है। मैं शुक्रवार दोपहर तक ऑफिस में ही था। न तो मुझे प्रधान और न ही ईओ की तरफ से मीटिंग को लेकर कोई जानकारी एवं सूचना दी गई।
धर्मवीर सिंह, सचिव नगर परिषद, कैथल।

प्रधान डेट और टाइम तय कर सकते हैं। नियमानुसार सचिव पत्र और एजेंडा जारी कर सकते हैं, तभी प्रोसिडिंग लिखी जाती है।
बलबीर सिंह, कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद, कैथल।

एमसी एक्ट की धारा 25 के तहत 20 जून को दोपहर 3 बजे मीटिंग तय की गई है। इस बारे में ईओ, सचिव सहित सभी उच्चाधिकारियों को पत्र भेज दिया गया है। सभी अधिकारियों को मीटिंग में उपस्थित होने के निर्देश दिए गए हैं। जो भी अधिकारी मीटिंग में उपस्थित नहीं होगा, उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। मीटिंग मान्य होगी या नहीं वह बाद की बात है।
डाॅ. पवन थरेजा, कार्यकारी प्रधान, नगर परिषद, कैथल।

खबरें और भी हैं...