पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बैठक:26 को राष्ट्रव्यापी हड़ताल में महासंघ से जुड़े कर्मचारी लेंगे हिस्सा

कैथल4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कैथल| मीटिंग करते हरियाणा कर्मचारी महासंघ।
  • हड़ताल को लेकर संघ के सदस्यों ने बैठक कर बनाई रणनीति

हरियाणा कर्मचारी महासंघ की मीटिंग जिला प्रधान गांधी लेंगा की अध्यक्षता में हुई। मंच का संचालन जिला महासचिव बलवान कुंडू ने किया। मीटिंग में 26 नवंबर को होने वाले राष्ट्रव्यापी हड़ताल को लेकर मंथन किया गया। कच्चे कर्मचारियों को पक्का करना, निजीकरण पर रोक लगाना, पुरानी पेंशन बहाल करना, पक्के कर्मचारियों की भर्ती करना, महंगाई भत्ता को बहाल करना, रिस्की भत्ता लागू करना और अन्य मुद्दों को लेकर की जा रही है।

महासंघ के जिला प्रधान व प्रेस प्रवक्ता डाॅ. रामनिवास ने कहा कि 26 नवंबर को हड़ताल में सभी विभागों के कर्मचारी बढ़ चढ़कर भाग लेंगे। हड़ताल को सफल बनाने के लिए सभी विभागों की मीटिंग की जा रही है जिसके अंदर सभी कर्मचारियों में हड़ताल के प्रति पूरा जोश है। बैठक में स्वास्थ्य विभाग से कर्मचंद मलिक, अध्यापक संघ से संदीप शर्मा, हसला प्रधान ईश्वर, बिजली बोर्ड से बलवान सोलंकी, रोहतास, रोडवेज से महावीर संधु, जसवीर, मनोज, रामफल शिमला, राकेश, अश्वनी, अंकुरव श्रीनिवास सहित अन्य सदस्य उपस्थित रहे।

बीरबांगड़ा में सरकारी निर्माण उखाड़ने पर केस

गांव बीरबांगड़ा में बना चौक उखाड़ने के आरोप में पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। चौक का निर्माण डीसी के आदेश पर किया गया था। खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी ने बताया कि जिलाधीश कैथल के आदेश पर बीर बांगड़ा में माता वाले चौक का निर्माण करवाया गया था। निर्माण के लिए पुलिस सहायता ली गई थी। 18 नवंबर की रात शरारती तत्वों ने रात को चौक उखाड़ दिया व पेवर ब्लॉक इधर-उधर फेंक दी। आरोप है कि गांव के ही अंकुर, राजीव, संग्राम, साहिल, पप्पू, दीपक व विजय ने इसे अंजाम दिया। राजौंद थाना से एसआई वजीर सिंह ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें