अस्थाई स्कूलों को जल्द एक्सटेंशन जारी:अस्थाई स्कूलों को जल्द एक्सटेंशन जारी करे सरकार: वरुण जैन

कैथलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्राइवेट स्कूल वेलफेयर एसोसिएशन ने सरकार से मांग की है कि अस्थाई स्कूलों को जल्द एक्सटेंशन जारी की जाए। एसोसिएशन के राज्य महासचिव डॉ. वरुण जैन ने कहा कि वर्ष 2003 में प्रदेश में तत्कालीन मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला ने नई नियमावली बनाकर निजी स्कूलों को स्कूल चलाने के लिए मान्यता जरूरी की थी। तब से लेकर अब तक करीब 18 वर्ष पूरे होने को हैं, लेकिन जिन स्कूलों के पास स्कूल के लिए जमीन की शर्त पूरी नहीं हुई या अन्य किसी नियम में बाधा आई उन स्कूलों को अस्थाई स्कूल मानकर लगातार हर वर्ष आगे मान्यता लेने के लिए समय दिया जाता रहा है। इससे काफी स्कूल मान्यता लेने में कामयाब भी हुए लेकिन जो स्कूल मजबूरन शर्तें पूरी नहीं कर सके उनके सिर पर हमेशा स्कूलों को बंद करने की तलवार लटकती रही, लेकिन ऐसे स्कूल संचालक स्थाई मान्यता लेने के प्रयास भी लगातार करते रहे, लेकिन उन्हें सबसे ज्यादा दिक्कत जगह पूरी करने की रही, क्योंकि अधिकतर स्कूल संचालकों को अपने स्कूल के साथ वाली जगह न मिल पाना रहा। वरुण जैन ने कहा कि पहले से ही कोरोना काल के चलते बच्चों की पढ़ाई पर बहुत असर पड़ा है और निजी स्कूल संचालकों को भी काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा है सरकार प्रदेश के हजारों बच्चों के भविष्य की तरफ देखना चाहिए।

खबरें और भी हैं...