पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सीएचसी व पीएचसी स्तर पर माॅनिटरिंग:संक्रमण घटा लेकिन बचाव के लिए मास्क जरूरी- डीसी

कैथल17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्वास्थ्य विभाग की ओर से सीएचसी व पीएचसी स्तर पर माॅनिटरिंग की जा रही

डीसी प्रदीप दहिया ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए मास्क लगाना, सेनिटाइजर का उपयोग करना, साफ-सफाई व कोविड-19 की अन्य हिदायतों की पालना करना जरूरी है। ऐसा करके हम अपने साथ-साथ अपने परिजनों को इस महामारी से बचा सकते हैं। जिला प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं के दृष्टिगत हरसंभव कदम उठाए जा रहे हैं। कोरोना की संभावित तीसरी लहर से बचाव हेतू प्रशासन द्वारा अग्रिम प्रबंध किए गए हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए जिला प्रशासन अब तक बेहतर व्यवस्था सुनिश्चित करता आया है, जिसके परिणाम स्वरूप जिला की स्थिति नियंत्रण में है। शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में नियमित तौर पर आमजन को वैक्सीनेशन व कोरोना से बचाव के लिए किए जाने वाले उपायों के बारे में जागरूक किया जा रहा है।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से सीएचसी व पीएचसी स्तर पर माॅनिटरिंग की जा रही है। उन्होंने कहा कि जिला के विभिन्न स्थानों पर वैक्सीनेशन कैंप लगाए जा रहे हैं ताकि अधिक से अधिक लोगों को कोरोना से बचाव हेतू सुरक्षा कवच प्रदान किया जा सके। उन्होंने कहा कि कोरोना से दूरी बनाए रखने के लिए गांवों में आईईसी एक्टिविटी क्रियान्वित की जा रही है और हर आमजन मानस को पंचायत विभाग, पटवारी, आंगनबाड़ी वर्कर, सहायक, आशा वर्कर सहित एएनएम के माध्यम से कोरोना रोकथाम को लेकर उठाए गए कदमों के बारे में जानकारी भी दी जा रही है। कोरोना रोकथाम में स्वास्थ्य सुरक्षात्मक पहलुओं की अनुपालना करते हुए सकारात्मक प्रशासनिक निर्णय लिए जा रहे हैं। प्रशासन की ओर से अपने दायित्व का निर्वहन पूरी संजीदगी के साथ किया जा रहा है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि कोविड का खतरा भले ही फिलहाल कम हो गया है किंतु फिर भी आगामी परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए हमें बेहद सावधानी बनाए रखनी है।

खबरें और भी हैं...