पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विरोध:नगरपालिका की कृषि भूमि की खुली बोली में पहुंचे किसी भी किसानों ने नहीं दी बोली

कैथल8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पंचायती जमीन पर धान न लगाने के सरकार के फरमान का किसानों ने दिया करारा जवाब

देश सरकार के पंचायती भूमि पर धान ना लगाने के सरकार के फरमान का आज चीका के किसानों ने करारा जवाब दिया है। आज नगरपालिका चीका ने भवानी मंदिर के हाल में अपनी लगभग 700 एकड़ कृषि भूमि को एक वर्ष के लिए ठेके पर देने के लिए खुली बोली रखी थी। इस खुली बोली में भाग लेने के लिए भारी संख्या में किसान पहुंचे थे। बोली करवा रहे नपा के सचिव सुशील कुमार भुक्कल ने जब किसानों को सरकार के धान ना लगाने के आदेश पढ़कर सुनाए तो किसान एक-एक कर बोली स्थल से बाहर निकल गए और सरकार व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। किसान तीर्थ राम, रामकिशन, सुरेश, बलविंद्र सिंह, लखबीर सिंह, देश राज, संदीप कुमार, भाग सिंह, नछतर सिंह का कहना है कि जमीन का ठेका केवल धान की फसल ही पूरा कर सकती है।

सरकार जब इस जमीन पर धान लगाने ही नहीं देगी तो वे ठेके का पैसा कहां से पूरा करेंगे। किसानों ने नगरपालिका द्वारा जमीन का एक साल के रखे गए ठेके की कीमत से भी नाराज दिखे। किसानों ने कहा कि नगरपालिका ने एक साल का ठेका कम से कम 24500 रुपए रखा है जोकि बहुत अधिक है। उन्होंने कहा कि मक्का या दलहन की फसलों से तो ठेका के पैसे ही पूरे नहीं होंगे तो अपने बच्चों को क्या खिलाएंगे। किसानों ने कहा कि यदि नगरपालिका जमीन पर धान लगाने की इजाजत नहीं देती तो उसे जमीन का ठेका भी दस हजार रुपए प्रति एकड़ रखना चाहिए ताकि पहले से ही कर्ज के बोझ तले दबा किसान को कुछ राहत मिल सके। किसानों ने उपायुक्त के नाम एक पत्र लिख जमीन का ठेका दस हजार रुपए करने की मांग भी की है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser