पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सत्र के दाखिले:कम छात्र संख्या वाले स्कूलों में ही होंगे नए सत्र के दाखिले, आदेश आने तक बंद नहीं होंगे स्कूल

कैथल5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में हैं 25 से कम छात्र संख्या वाले 21 प्राइमरी स्कूल
  • इन्हें एक किमी के दायरे में दूसरे स्कूलों में किया जाना था मर्ज

कम छात्र संख्या वाले स्कूल अभी चालू रहेंगे। इन्ही स्कूलों में नए सत्र के दाखिले भी किए जाएंगे। जिले में 25 से कम छात्र संख्या वाले 21 प्राइमरी स्कूल हैं। सरकार के आदेशों के अनुसार इन स्कूलों को एक किलोमीटर के दायरे में दूसरे स्कूलों में मर्ज किया जाना था। लेकिन ज्यादातर स्कूलों के नजदीक कोई प्राइमरी स्कूल नहीं है।

ऐसे में स्थानीय शिक्षा अधिकारियों ने विभाग के उच्च शिक्षा अधिकारियों को पत्र लिखकर अवगत करवा दिया था। पत्र का अभी तक कोई जवाब नहीं आया है। जिस कारण विभाग ने इन स्कूलों में नए सत्र में दाखिले करने का फैसला लिया है। दाखिलों से पहले कोई आदेश आता है तो उसके अनुसार आगामी निर्णय लिया जाएगा।

विभाग ने कम छात्र संख्या वाले स्कूलों का डाटा जुटाया तो सामने आया कि जिले में 25 से कम विद्यार्थियों वाले 21 प्राइमरी स्कूल हैं। किसी स्कूल में दो बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं तो किसी में चार। कम संख्या वाले सभी स्कूलों में दो-दो शिक्षक नियुक्त थे।

ऐसे में विभाग ने फैसला लिया था कि जिन स्कूलों में 25 से कम विद्यार्थी पढ़ाई कर रहे हैं उन्हें एक किलोमीटर के दायरे में दूसरे स्कूल में मर्ज किया जाए। जिला में कम संख्या वाले ज्यादातर स्कूल छोटे गांवों या डेरों में हैं। जहां एक किलोमीटर के दायरे में कोई दूसरा स्कूल नहीं है।

मर्ज होने की शर्तों पर खरा न उतर पाने के कारण विभाग के पास दो ही विकल्प थे कि इन स्कूलों को ताला जड़ दिया जाए या कम संख्या के बावजूद स्कूलों को शुरू रखे। इससे अवगत करवाते हुए उच्च शिक्षा अधिकारियों को पत्र भी लिखा गया था। जिसके जवाब का इंतजार किया जा रहा है। दूसरे तरफ प्राइवेट स्कूलों में नया सेशन शुरू हो चुका है। ऐसे में स्थानीय शिक्षा अधिकारियों ने विभाग का जवाब न आने तक इन स्कूलों में ही दाखिले करवाने का फैसला लेना पड़ा।

विभाग को लिखा पत्र

कम छात्र संख्या वाले स्कूलों की स्थिति से अवगत करवाते हुए विभाग को पत्र लिखा था। जिसका अभी तक कोई जवाब नहीं आया है। आगामी आदेश आने तक इन्हीं स्कूलों में बच्चों के दाखिले किए जाएंगे। अभिभावकों को दाखिलों को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है।
दलीप सिंह, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी।

इन प्राइमरी स्कूलों में कम हैं विद्यार्थी

स्कूल का नाम विद्यार्थी संख्या

राजकीय स्कूल डेरा फरल 2 राजकीय स्कूल मटकालियां 3 राजकी स्कूल कालू की गामड़ी 4 राजकीय स्कूल करतारपुर 5 राजकीय स्कूल रतनपुरा 6 राजकीय स्कूल जटहेड़ी 8 राजकीय स्कूल डेरा गोबिंदपुरा 9 राजकीय स्कूल शुगलपुर 9 राजकीय स्कूल बुबाकपुर 10 राजकीय स्कूल गुरदासपुरा11 राजकीय स्कूल डेरा उत्तमसिंह11 राजकीय स्कूल कसौर 13 राजकीय स्कूल डेरा दिल्लूराम15 राजकीय स्कूल थेहबर्थ 15 राजकीय स्कूल सरकारपुर 16 राजकीय स्कूल थेह खरक 18 राजकीय स्कूल सिंहपुर खेड़ा19 राजकीय स्कूल बुडनपुर20 राजकीय स्कूल जोधांवा22 राजकीय स्कूल भूना नं.123 राजकीय स्कूल डेरा सिधुआं23 यह डाटा विभाग के पोर्टल से लिया गया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

    और पढ़ें