पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ये बीमारियों का मौसम है:वायरल रोगियों की ओपीडी बढ़ी, 1000 घरों को नोटिस देने के बाद भी शहर में मिला डेंगू का केस

कैथल5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कैथल| जिला अस्पताल में 12 बजे के बाद भी ओपीडी रजिस्ट्रेशन काउंटर पर लगी मरीजों की भीड़। - Dainik Bhaskar
कैथल| जिला अस्पताल में 12 बजे के बाद भी ओपीडी रजिस्ट्रेशन काउंटर पर लगी मरीजों की भीड़।
  • लगातार हो रही बारिश व रात की ठंड बढ़ने के कारण सेहत पर पड़ रहा प्रतिकूल असर, ज्यादातर मरीज बुखार व जुकाम से ग्रसित

मौसम में हो रहे बदलाव और लगातार हो रही बारिश के कारण सेहत पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। पिछले कुछ दिनों में अस्पतालों में वायरल के रोगियों की ओपीडी दोगुनी हो गई है। ज्यादातर मरीज बुखार और जुकाम से ग्रसित होकर अस्पतालों में पहुंच रहे हैं। सिविल अस्पताल में ही मेडिसिन ओपीडी में 50 प्रतिशत मरीज वायरल से पीड़ित आ रहे हैं। बीमारियों के लिए यह मौसम अनुकूल होता है।

अन्य दिनों की तुलना में इन दिनों में खानपान के साथ-साथ सेहत के प्रति ज्यादा ध्यान रखने की जरूरत होती है। इन्हीं दिनों में डेंगू और मलेरिया भी तेजी से फैलता है। करीब 1000 घरों में डेंगू व मलेरिया का लारवा मिलने पर नष्ट करने और नोटिस दिए जाने के बावजूद कैथल में डेंगू दस्तक दे चुका है। कई दिन पहले डोगरा गेट निवासी एक व्यक्ति निजी अस्पताल में डेंगू पॉजिटिव मिला है। पिछले वर्ष भी डेंगू ने कहर मचाया था और जिले में 114 केस मिले थे। इस वर्ष भी अगर सेहत और अपने आसपास साफ सफाई पर ध्यान नहीं दिया तो ये आंकड़ा और बड़ा हो सकता है।

स्वास्थ्य विभाग की कोशिशों के बाद भी पनप रहा डेंगू का लारवा
स्वास्थ्य विभाग पूरे जिले में घरों व कार्यालयों में लारवा की जांच करता है। लारवा मिलने पर नोटिस भी दिए जाते हैं। अब तक लारवा मिलने के कारण 1000 घरों व कार्यालयों में ये नोटिस दिए जा चुके हैं लेकिन उसके बावजूद डेंगू के केस बढ़ रहे हैं। पिछले वर्ष भी उम्मीद से कहीं ज्यादा 114 डेंगू के केस मिले थे। इस बार भी अगर लोगों ने आदतों में सुधार नहीं किया तो डेंगू व मलेरिया का लारवा किसी के घर में भी पनप सकता है। विभाग का दावा है कि कई माह पहले ही लारवा की जांच शुरू करने के साथ ही लोगों को जागरूक करने का काम भी शुरू कर दिया गया था।

बचाव के उपाय: ताजा व घर का खाना ही खाएं
शाह अस्पताल में फिजिशियन डाॅ. राजेश का कहना है कि मौसम में बदलाव के कारण और सेहत के प्रति लापरवाही रवैये से वायरल व अन्य बीमारियां तेजी से फैलती हैं। इन दिनों में सबसे ज्यादा जरूरत खानपान पर देने की जरूरत है। फास्ट फूड व तला हुआ खाना, ठंडी चीजें और बासी खाना खाने से बचें। ताजा और घर का खाना ही खाएं। पानी हमेशा उबालने के बाद ठंडा करके पीएं। एसी का प्रयोग न करें। सीधे ठंडी हवा लगने से भी बीमार होने का खतरा बढ़ जाता है। अपने आसपास व घर में साफ सफाई रखें। किसी भी बर्तन व स्थान पर पानी जमा न होने दें और यदि पानी जमा हो तो तुरंत उसमें एक ढककर मिट्टी का तेल डाल दें ताकि डेंगू व मलेरिया जैसी बीमारियों का लारवा न पनपने पाएं।

सिविल अस्पताल में वायरल के मरीजों की संख्या बढ़ी है। संदिग्ध की डेंगू व मलेरिया की जांच करवाई जा रही है। लोगों को जागरूक करने का काम भी किया जा रहा है।-डाॅ. शैलेंद्र ममगाईं शैली, पीएमओ, सिविल अस्पताल।

खबरें और भी हैं...