अधिकारियों को फटकार / बाढ़ बचाव प्रबंधों की समीक्षा, सांसद बोले-जिस विभाग की सड़क पर पानी भरा दिखा, उस अधिकारी की खैर नहीं

Review of flood rescue arrangements, MP said - the department whose road was flooded, the officer was not happy
X
Review of flood rescue arrangements, MP said - the department whose road was flooded, the officer was not happy

  • जल शक्ति अभियान के तहत तैयार स्ट्रक्चरों को साफ करें अधिकारी

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 05:00 AM IST

कैथल. सांसद नायब सिंह सैनी ने कहा कि बरसात के सीजन में सड़कों पर पानी नजर नहीं आना चाहिए। जिस भी महकमे की सड़क पर पानी नजर आया तो उस विभाग के अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई होगी। इसलिए सभी अधिकारी बिना अपने विभागस्तर पर काम करना शुरू कर दें। ताकि 20 जून से पहले प्रबंध पूरे किए जा सकें। 


 थानेसर शहर के सेक्टर 3, 2, 4, 5, 7, 13, 8 में बरसाती पानी की निकासी के विकास कार्यों तथा प्रबंधों के लिए 303 लाख के टेंडर जारी करने के प्रस्ताव पर भी सांसद व विधायकों ने मोहर लगाई। सांसद नायब सिंह सैनी सोमवार को पंचायत भवन में कुरुक्षेत्र में बाढ़ बचाव के लिए तैयार योजनाओं तथा प्रबंधों की समीक्षा को लेकर अधिकारियों की मीटिंग में बोल रहे।  सांसद सैनी, विधायक सुभाष सुधा, विधायक रामकरण काला ने अधिकारियों द्वारा बाढ़ बचाव को लेकर  प्रबंधों तथा पानी निकासी को लेकर तैयार योजनाओं की रिपोर्ट ली। उन्होंने कहा कि बाढ़ बचाव के प्रबंध कागजों में ही नहीं होने चाहिए, उन्हें धरातल पर भी लाना होगा। 


 इस बार वह स्वयं तथा सभी विधायक और डीसी तमाम कार्यों  पर नजर रखेंगे। पिछले  वर्ष के अनुभवों के अनुसार सरस्वती बोर्ड के अधिकारियों को मेहनत के साथ पिपली से लेकर पिहोवा में जिले की सीमा तक सरस्वती चैनल की सफाई और खुदाई करनी होगी। डीसी धीरेन्द्र ने बाढ़ बचाव को लेकर किए गए प्रबंधों की विस्तृत रिपोर्ट रखी। कहा कि सभी को  विभागस्तर पर 20 जून से पहले सभी प्रबंध पूरे करने होंगे। इस मौके पर एडीसी वीना हुड्डा, अंडर ट्रेनिंग आईएएस वैशाली सिंह, नगराधीश सतबीर कुंडू, एसडीएम अश्विनी मलिक, एसडीएम अनिल यादव, एसडीएम डॉ. किरण सिंह, एसडीएम सोनू राम, डीएसपी ममता सौदा अन्य अधिकारी मौजूद थे। 

डीसी ने किया एडीसी की अध्यक्षता में कमेटी का गठन 
डीसी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि पिछले वर्ष जल शक्ति अभियान के तहत वाटर रिर्चाजिंग प्रोजेक्ट, बोरिंग और अन्य जितने भी तरह के स्ट्रक्चर तैयार किए उन स्ट्रक्चर को साफ कराएं।  इसकी रिपोर्ट तैयार करने के लिए सफाई से पहले और बाद की फोटो भी प्रयोग में लाई जाए। एडीसी की अध्यक्षता में कमेटी का गठन करते हुए कहा कि इस कमेटी के सभी सदस्य बरसातों के दौरान खरीदे जाने वाले संसाधनों के रेट तय करेंगे।

पानी निकासी के प्रबंधों को लेकर फटकार 
विधायक सुधा ने कहा कि थानेसर शहर में पानी निकासी सबसे बड़ी समस्या है इसका खुलासा रविवार को हुई बरसात ने भी किया है। अधिकारियों को पिछले साल जो प्रबंध करने के लिए कहा था, वो अभी तक पूरे नहीं हो पाए। उन्होंने अधिकारियों को फटकार लगाई। कहा कि थानेसर शहर में अधिकारियों की लापरवाही के कारण बरसात के सीजन में जरा भी परेशानी का सामना करना पड़ा तो उस अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई के लिए लिखा जाएगा। शाहाबाद के विधायक ने भी  बरसाती पानी निकासी का मुद्दा रखा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना