पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:भ्रष्टाचार मामले में सुर्खियों में रहे सर्जन डाॅ. दिनेश कंसल की 5 माह में दो बार शिकायत

कैथल11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकारी में आने वाले मरीजों का प्राइवेट अस्पताल में ऑपरेशन करने व लिंग जांच कराने जैसे गंभीर आरोप

भ्रष्टाचार मामले में सुखिर्याें में रहे सरकारी अस्पताल के सर्जन डाॅ. दिनेश कंसल की पांच महीने में दूसरी बार शिकायत के बाद उनका तबादला 244 किलोमीटर दूर नूंह के मांडीखेड़ा कर दिया है। डाॅक्टर पहले भी विवादों में रह चुके हैं। 2016 में भी विजिलेंस ने भ्रष्टाचार एक मामले में रेड की थी और उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हुई थी। मामले में डाॅक्टर किसी तरह बच निकले थे।

वहीं ताजे मामले में डाॅ. कंसल के खिलाफ पहली शिकायत अगस्त 2020 में की गई थी जो गुमनाम दी गई थी। इसकी जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन भी हुआ था, लेकिन जांच पूरी नहीं हो सकी थी। दूसरी शिकायत गांव सेरधा निवासी सतीश कुमार की है जो खुद को गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का फैन बताते हैं। हालांकि दोनों शिकायत में आरोप एक जैसे ही हैं। दोनों शिकायतों में कई गंभीर आरोप भी डाॅक्टर कंसल पर लगाए हैं।

शिकायत में ये लगाए गए हैं आरोप

डाॅ. कंसल पर सरकारी अस्पताल में आने वाले मरीजों का प्राइवेट अस्पताल में ऑपरेशन करने और इलाज के फर्जी बिल बनाने, इस कार्य में अस्पताल के ही स्टाफ नर्स समेत कर्मचारियों के मिले होने के आरोप भी लगाए हैं, इसके अलावा लड़ाई झगड़े के मामलों में रुपए लेकर गलत रिपोर्ट तैयार करने, डाॅ. कंसल व एक अन्य डाॅक्टर पर सरकारी अस्पताल में आने वालों को अल्ट्रसाउंड जांच के लिए बाहर भेजना और लिंग जांच कराने जैसे गंभीर आरोप भी लगाए हैं।

3 रिमाइंडर के बाद भी कमेटी के सामने नहीं हुए थे पेश

अगस्त 2020 में गुमनाम शिकायत के बाद डाॅ. दिनेश कंसल व एक अन्य डाॅक्टर के खिलाफ लगाए गंभीर आरोपों की जांच करने के लिए तीन सदस्यी कमेटी बनी थी, लेकिन डाॅ. कंसल व एक अन्य डाॅक्टर तीन रिमांइडर दिए जाने के बाद भी कमेटी के सामने पेश नहीं हुए थे। दोनों ने ही पहले कई बार बहाने बनाए और जानबुझकर कमेटी के सामने पेश नहीं हुए। कमेटी ने अपनी जांच में दोनों डाॅक्टरों पर लगे आरोपों को गंभीर बताते हुए जांच प्रशासनिक अधिकारियों से करवाने के लिए लिखा था।

डायेक्टर के आदेशों के बाद जांच के लिए कमेटी गठित

हेल्थ विभाग के डायरेक्टर ने सिविल सर्जन कैथल को शिकायत में लगाए गए आरोपों की जांच कर 15 दिन में रिपोर्ट मांगी है। सिविल सर्जन डाॅ. ओमप्रकाश का कहना है कि आरोपों की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित कर दी गई है। तबादला किन कारणों से हुआ इसकी जानकारी उन्हें भी नहीं है। पहले भी शिकायत हुई थी और जांच के लिए कमेटी का गठन भी किया था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser