दशहरा पर्व:इस बार दशहरे पर बन रहा सर्वार्थ सिद्धि, कुमार व रवि याेग का अद्भुत संयाेग

कैथल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंचांग के अनुसार दशहरा आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है। ज्योतिषी प्रेम कुमार शास्त्री ने बताया कि दिवाली से ठीक 20 दिन पहले आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को दशहरा का पर्व मनाया जाता है। इस साल 15 अक्टूबर दिन शुक्रवार धनिष्ठा नक्षत्र को दशहरा मनाया जाएगा।

दशमी तिथि 14 अक्टूबर को शाम 6:53 पर शुरू होगी, जो 15 अक्टूबर शाम 6 बजकर 2 मिनट तक रहेगी। अभिजीत मुहूर्त सुबह 11:43 से दोपहर 12:29 बजे तक होगा। अपराह्न पूजा का मुहूर्त दोपहर 1:10 से दोपहर 2:00 बजे तक रहेगा। विजय मुहूर्त दोपहर 2:02 से 2:48 बजे का समय पूजा करना शुभ रहेगा। इस बार दशहरा पर सर्वार्थ सिद्धि, कुमार व रवि योग का अद्भुत संयोग बन रहा है। सर्वार्थ सिद्धि योग व कुमार योग सूर्योदय से सुबह 9:16 तक तथा रवि योग पूरे दिन रात तक रहेगा। इस शुभ योग में इलेक्ट्रॉनिक सामान, वाहन, सोना, चांदी अन्य शुभ काम व खरीदारी के लिए शुभ रहेगा।

खबरें और भी हैं...