मामला दर्ज / पूंडरी थाने में अमेरिका भेजने के नाम पर धोखाधड़ी के दो और मामले दर्ज

X

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:00 AM IST

कैथल. पूंडरी थाना में अमेरिका भेजने और डॉलर में कमाई के सपने दिखाकर धोखाधड़ी करने के दो और मामले दर्ज हुए हैं। एक दिन पहले ही पूरे जिले के विभिन्न थानों में 13 मामले दर्ज हुए थे। ताजा मामले में 24 वर्षीय गौरा निवासी मूंदड़ी ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि गांव सांच निवासी एजेंट जगतार उर्फ जोडी पैसे लेकर अमेरिका भेजता है। उन्होंने गांवों के काफी लड़कों को विदेश भेजा था। 22 मार्च 2019 को चाचा प्रकाश के साथ वह एजेंट जगतार से पूंडरी उनके दफ्तर मेें मिला और 14 लाख रुपए में अमेरिका भेजने की बात तय हुई। रुपए अमेरिका पहुंचने के बाद देने की बात भी हुई। 28 मार्च को एजेंट का फोन आया कि उनकी दिल्ली से फ्लाइट है और वे तुरंत पहुंचे।

वह उसी दिन दिल्ली पहुंच गया और आकाश नाम का एक व्यक्ति उन्हें मिले। उसने किसी के भी पूछने पर इकवाडोर घूमने जा रहा हंू, यह बोलने के लिए कहा। उसके बाद उनका संघर्ष शुरू हो गया है और वे कई देशों से होते हुए व विभिन्न कठिनाइयों को सहते हुए अमेरिकन-मैक्सिको दीवार पार की, लेकिन दीवार पार करते ही अमेरिकन आर्मी ने पकड़ लिया। उसके बाद 30 दिनों तक पुलिस चौकी में रखा और उसके बाद विभिन्न कैंपों में रहा। दो अक्टूबर 2019 को कोर्ट में पेश किया गया और बताया गया कि उन्होंने गलत तरीके से बॉर्डर पार किया है। वे अपना पासपोर्ट मंगवा लें उन्हें उसके देश वापस भेज देंगे। 16 फरवरी 2020 को उनका वाइट पासपोर्ट बन गया। 45 दिन बाद उन्हें 18 मई को टैक्सास एयरपोर्ट से ओमनी एयरलाइंस के जरिए अमृतसर भेज दिया। वहां से पंचकूला पुलिस उन्हें अपने साथ ले गई। उनका अमेरिका और पंचकुला में हुआ कोविड 19 के टेस्ट की रिपोर्ट भी निगेटिव आई है। झूठे सपने दिखाने वाले एजेंट के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनके रुपए उन्हें वापस दिलाए जाएं।


दूसरे केस की भी यही कहानी है|

दीपक निवासी पूंडरी ने थाना में दी शिकायत में बताया कि वे अपने पिता के साथ खेती करता था। पिता ने एक दिन जांबा निवासी सतपाल से विदेश भेजने की बातचीत की। उन्होंने 20 लाख में विदेश भेजने की बात कही 13 अप्रैल 2019 को चार लाख व मेरा पासपोर्ट ले लिया। 17 अप्रैल को उन्हें दिल्ली एयरपोर्ट भेज दिया और वहां उन्हें एक जग्गू नाम का व्यक्ति मिला। उसके बाद फ्लाइट से ब्राजील पहुंचा जहां पुलिस ने पकड़ लिया और एक-एक हजार डॉलर मांगे और पासपोर्ट भी रख लिया। डॉलर देकर पासपोर्ट लिए। वहां से उन्हें इक्वाडोर भेजा गया। उसके बाद विभिन्न देशों व जंगलों से होते हुए अमेरिका में दाखिल होने की कोशिश की और आर्मी ने पकड़ लिया और कई महीने विभिन्न कैंपों में रखने के बाद उन्हें 18 मई को टैक्सास एयरपोर्ट से अमृतसर भेज दिया। वहां से पंचकूला पुलिस साथ ले आई। उनकी मांग है कि 14.50 लाख ठगने वाले एजेंट के खिलाफ उनके रुपए वापस दिलाए जाएं।

दोनों ही मामलों शिकायत के बाद संबंधित एजेंट के खिलाफ धोखाधड़ी व विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।
नरेंद्र सिंह, थाना प्रभारी, पूंडरी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना