दिशा - निर्देश:मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना से संबंधित एप व पोर्टल का वर्चुअल एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर

कैथल5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रशिक्षण शिविर में उपस्थित विभिन्न विभागों के अधिकारी व डीसी प्रदीप दहिया। - Dainik Bhaskar
प्रशिक्षण शिविर में उपस्थित विभिन्न विभागों के अधिकारी व डीसी प्रदीप दहिया।

डीसी प्रदीप दहिया ने कहा कि मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत जिले में लाभार्थियों को लाभ देना शुरू कर दिया है। इस योजना से संबंधित एप व वेब पोर्टल के बारे में सभी संबंधित अधिकारी व कर्मचारी पूरी जानकारी लेकर काम करें, ताकि संबंधित व्यक्तियों को समयबद्ध लाभान्वित किया जा सके। मुख्यमंत्री मनोहर लाल स्वयं समय-समय पर इस योजना की समीक्षा करते हैं।

ये योजना बहुत ही महत्वकांक्षी है और जिला कैथल इस योजना के तहत लाभ देने वाला पहला जिला है। डीसी प्रदीप दहिया चंडीगढ़ से आयोजित वीसी को देखने और सुनने के उपरांत शुक्रवार को लघु सचिवालय में आयोजित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दे रहे थे। डीसी ने कहा कि ये योजना मुख्यमंत्री की महत्वकांक्षी योजना है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य हर अंतिम व्यक्ति को स्कीमों के माध्यम से लाभान्वित करना है। चंडीगढ़ से आयोजित वीसी के माध्यम से प्रधान सचिव विनित गर्ग एवं मिशन निदेशक मंदीप बराड़ ने दिए अधिकारियों को योजनाओं से जुड़े नए टिप्स दिए।

कई विभागों के अधिकारियों को दिया प्रशिक्षण : प्रशिक्षण लेने वाले विभागों में जिला नगर आयुक्त, सीईओ जिला परिषद, डीडीपीओ, पशुपालन विभाग के उपनिदेशक, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्दयम के उपनिदेशक, जिला रोजगार अधिकारी, जिला बागवानी अधिकारी, हरियाणा महिला विकास निगम के जिला प्रबंधक, हरियाणा राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबंधक, जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक, पिछड़ा एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग कल्याण निगम के जिला प्रबंधक, एग्रो इंडस्ट्री के जिला इंचार्ज।

हरियाणा डेयरी विकास सहकारी प्रसंग के जिला प्रबंधक, हरियाणा कौशल विकास मिशन के जिला कौशल समन्यवक, जिला मत्स्य अधिकारी, हरियाणा अनुसूचित जाति वित्त विकास निगम के जिला प्रबंधक, जिला रैडक्रॉस सोसायटी के सचिव, जिला बाल कल्याण अधिकारी, अटल सेवा केंद्र के जिला प्रबंधक, जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी शामिल रहे। इस मौके पर जिप सीईओ सुरेश राविश, डीएमसी कुलधीर सिंह, डीडीपीओ कंवर धवन, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, डीएसडब्ल्यूओ कुलदीप शर्मा, ईओ कुलदीप सिंह के अलावा अन्य संबंधित अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

कोई दूसरे आवेदन में विभाग बदलना चाहता है तो उसे रिजेक्ट न करें, संबंधित विभाग में भेज दें
प्रशिक्षण में विशेषज्ञों ने बताया कि इस एप व पोर्टल पर आने वाले आवेदन को ध्यान से देखें तथा संबंधित व्यक्ति को लाभ देने की दिशा में जितने भी सोपान हैं, उन्हें पूरा करें, ताकि संबंधित व्यक्ति को लाभान्वित किया जा सके। पोर्टल पर जितने भी आवेदन आए हैं, अगर संबंधित पहले किए गए अनुरोध को बदलकर किसी अन्य विभाग की योजना का लाभ लेना चाहता है तो संबंधित विभाग उसके आवेदन को उसकी रूचि के अनुसार दूसरे विभाग में भेज दें न कि उसे रिजेक्ट करें।

खबरें और भी हैं...