पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विरोध प्रदर्शन:किसानों ने शिमला व खरक पांडवा के पास तीन घंटे तक रोका एनएच

कलायतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कलायत | खरक पांडव गांव के बीच कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर हिसार-चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग पर धरना प्रदर्शन करते किसान। - Dainik Bhaskar
कलायत | खरक पांडव गांव के बीच कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर हिसार-चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग पर धरना प्रदर्शन करते किसान।
  • रोड जाम में अलग-अलग गांव के किसान, राजनीतिक दलों व कर्मचारी यूनियन के लोग पहुंचे

कृषि कानूनों के विरोध में उपमंडल के किसानाें द्वारा नेशनल हाईवे स्थित कलायत-खरक पांडवा के बीच व शिमला गांव में 3 घंटे तक जाम लगाकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान किसानों के साथ-साथ राजनीतिक दलों और कर्मचारी यूनियनों के प्रधानों ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया तथा व्यापारी वर्ग द्वारा किसान आंदोलन में सहयोग किया गया।

किसानों द्वारा किए जा रहे प्रदर्शन के दौरान कोई अनहोनी घटना न घटे, इसके लिए कैंची चौक पर डीएसपी सुनील कुमार व थाना प्रभारी जयवीर सिंह के नेतृत्व में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात की गई थी। किसान आंदोलन को देखते हुए आने-जाने वालों को परेशानी न हो, इसके लिए पुलिस द्वारा रूट डायवर्ट किए गए। सुबह करीब 10 बजे से ही ग्रामीण व किसान तथा अन्य संगठन सदस्य धरनास्थल की और पहुंचना शुरू हो गए थे तथा दोपहर 12 बजे धरना-प्रदर्शन की शुरुआत कर दी गई थी।

धरनास्थल पर किसानों के मनोरंजन के लिए गायक तथा खाने-पीने के लिए जलपान का भी प्रबंध किया गया था। धरनास्थल पर बैठे किसानों द्वारा एंबुलेंस के साथ-साथ इमरजेंसी सेवाओं के लिए रास्ता दिया जा रहा था। किसान संगठनों द्वारा चक्का जाम की घोषणा के बाद जिस किसी व्यक्ति को भी किसी कार्यवश बाहर जाने वाले शुक्रवार सायं अपने गंतव्य तक पहुंच रहे थे, वहीं कुछ शनिवार सुबह अपने साधनों से 12 बजे से पहले ही अपनी मंजिल तक पहुंचने शुरू हो गए थे।

इस्तीफा देने वाले जिला परिषद सदस्य व दर्जनभर सरपंच तथा ब्लाॅक समिति सदस्यों को किया सम्मानित| धरनास्थल पर कृषि कानूनों के विरोध में इस्तीफा देने वाले जिला परिषद सदस्य, सरपंचों व ब्लाॅक समिति सदस्यों को किसान संगठनों की तरफ से सम्मानित किया गया। कृषि कानून के विरोध में सबसे पहले इस्तीफा देने वाले सरपंच पृथ्वी सिंह ने कहा कि सरकार सरकार द्वारा बनाए गए तीनों कृषि कानून जब किसानों को ही पसंद नहीं है तो सरकार द्वारा जबरदस्ती किसानों पर क्यों थोपा जा रहा है।

ये खाप प्रतिनिधि व किसान नेता रहे मौजूद

नेशनल हाईवे पर किए गए चक्का जाम के दौरान धरनास्थल पर मौण खाप प्रधान धूप सिंह मौण, सहारण खाप प्रधान रामपाल खरक पांडवा, उझाना खाप से हरिराम, बालू से पूर्व सरपंच ओमप्रकाश, अनाज मंडी प्रधान सुनील गर्ग, किसान यूनियन नेता जिया लाल, स्वराज पार्टी से प्रोमिला सहारण, गुरनाम सहारण, शमशेर सिंह, गंगा दयाल खरक पांडवा, पूर्व सरपंच दया राम, साधु राम कोलेखा, हरपाल सिंह लांबा खरक पांडवा के अलावा सैकड़ों राजनीतिक व विभिन्न संगठनों के किसान नेता तथा खाप प्रतिनिधि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें