पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अनदेखी:मार्च बीतने को है अब तक नहीं मांगे 134ए के आवेदन

कुरुक्षेत्रएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मार्च माह बीतने को है और अब तक निजी स्कूलों में निशुल्क दाखिलों के लिए 134ए के आवेदन नहीं निकल पाए हैं। पिछले साल भी कोरोना के कारण 134ए के दाखिलों की प्रक्रिया बीच में ही अटक गई थी।वहीं इस बार शिक्षा विभाग 134ए के तहत होने वाले दाखिलों की प्रक्रिया को ही भूल चुका है। इसके चलते अब तक शिक्षा विभाग ने जिला स्तर पर 134ए के तहत होने वाले दाखिलों की तैयारी को लेकर निर्देश नहीं दिए हैं।

वहीं अब तक निजी स्कूलों से 134ए के तहत होने वाले दाखिलों की खाली सीटों को लेकर सूचना भी नहीं मांगी गई। ऐसे में इस बार आर्थिक तौर पर जरूरतमंद मेधावियों का निजी स्कूलों में दाखिले पाने का सपना टूट सकता है।

दो लाख से कम आय वालों को नि:शुल्क दाखिला : 134ए नियम के तहत कोई भी विद्यार्थी जिसके परिवार की आमदन दो लाख से कम हो वह निजी स्कूल में नि:शुल्क पढ़ाई कर सकता है। इस नियम के तहत प्रत्येक जिले में शिक्षा विभाग की ओर से परीक्षा आयोजित की जाती है। मेरिट के आधार पर विद्यार्थियों को पसंदीदा स्कूलों में दाखिले दिलाए जाते हैं।

पिछले कई सालों से जरूरतमंद मेधावी विद्यार्थी इस योजना के तहत निजी स्कूलों में नि:शुल्क पढ़ाई कर रहे हैं। यह योजना आर्थिक तौर पर जरूरतमंद परिवारों के अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूल में पढ़ाने के सपने को पूरा कर रही है। इसके चलते 134ए के तहत निकलने वाले आवेदनों का विद्यार्थियों के साथ-साथ उनके अभिभावकों को भी बेसब्री से इंतजार रहता है।

हर साल तीन हजार से अधिक सीट आरक्षित : जिलेभर के 200 से अधिक निजी स्कूलों में हर साल तीन हजार से अधिक सीट 134ए के तहत आरक्षित होती हैं। इन सभी सीटों पर दाखिले के लिए विद्यार्थियों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा होती है। अभिभावक गोल्डी आनंद, रमेश, पवन कुमार, विनोद और अरविंद ने बताया कि 134ए के चलते वे भी अपने बच्चों को निजी स्कूल में पढ़ाने का सपना देख पाए हैं। ऐसे में शिक्षा विभाग को जल्द से जल्द 134ए के तहत दाखिलों का शेड्यूल जारी करना चाहिए। ताकि समय रहते उनके बच्चे प्रक्रिया को पूरा करके निजी स्कूलों में दाखिला पा सकें।

अप्रैल से निजी स्कूलों में नया सत्र होगा शुरू : निजी स्कूलों में नया शैक्षणिक सत्र अप्रैल में शुरु हो जाएगा। अभिभावकों ने कहा कि शिक्षा विभाग की ओर से प्रक्रिया देरी से शुरु करने के कारण बच्चों की शुरुआत की पढ़ाई खराब हो जाती है। इस बार भी अब तक आवेदन की प्रक्रिया भी शुरु नहीं हो पाई। ऐसे में इस बार 134ए के तहत दाखिले पाना मुश्किल दिख रहा है।

फरवरी में शुरू हो जाती थी प्रक्रिया
134ए के तहत आवेदनों की प्रक्रिया हर साल फरवरी के अंत में शुरू हो जाती है और 20 मार्च तक चलती थी। इसके बाद अप्रैल में परीक्षा का आयोजन किया जाता है। परीक्षा परिणाम की मेरिट के आधार पर विद्यार्थियों को उनकी पसंद के स्कूल आवंटित किए जाते हैं।

अभी नहीं आए 134ए को लेकर निर्देश : भट्‌ठी
जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी सतनाम भट्टी ने बताया कि 134ए के तहत निजी स्कूलों में होने वाले दाखिलों को लेकर अभी तक शिक्षा विभाग की ओर से कोई निर्देश नहीं आए हैं। विभाग के निर्देशों के बाद ही 134ए की प्रक्रिया को शुरु किया जाएगा। भट्टी ने कहा कि कोरोना के चलते शिक्षा विभाग की ओर से शैक्षणिक सत्र को भी आगे बढ़ाया गया है। जिसके चलते अभी तक राजकीय स्कूलों में नॉन बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम घोषित नहीं किए गए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें