तापमान में 4 डिग्री तक गिरावट:बूंदाबांदी के बाद चली शीतलहर ने वातावरण में बढ़ाई ठिठुरन

कुरुक्षेत्र16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मौसम विशेषज्ञ अगले दो दिन और जता रहे बरसात की संभावना

शुक्रवार सुबह हुई हल्की बूंदाबांदी से मौसम में एक बार फिर से बदलाव देखने को मिला। पूरा दिन आसमान में बादल छाए रहे। आमजन को पूरा दिन सूर्य देव के दर्शन नहीं हुए। जिससे तापमान में 4 डिग्री तक गिरावट देखने को मिली। 16 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चली शीतलहर ने वातावरण में ठिठुरन बढ़ाई। शुक्रवार को अधिकतम तापमान 18 डिग्री व न्यूनतम तापमान 14 डिग्री रहा। बता दें कि सप्ताहभर से मौसम परिवर्तनशील हैं। कभी तेज धूप खिलती है तो कभी बादल छा जाते है। मौसम विशेषज्ञों ने अगले 3 दिन हल्की बूंदाबांदी होने की बात कही है। अगर तीन दिन बारिश होती है तो मौसम में बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा।
सर्दी के कारण घरों में दुबके नजर आए लोग: शीतलहर के चलने से अचानक बड़ी सर्दी के कारण बुधवार को लोग घरों में ही दुबके नजर आए । सर्दी से निजात पाने के लिए लोगों ने रुम हीटर का सहारा लिया। बाजारों व पार्कों में भी सुबह शाम के समय सन्नाटा रहा।
सिंचाई व पेस्टीसाइड का न करे छिड़काव: कृषि विशेषज्ञों ने कहा कि बरसात की संभावना को देखते हुए फसलों में सिंचाई रोक लें। इस मौसम में फसलों में खाद व पेस्टीसाइड का छिड़काव न करें। इस मौसम में फसलों में बीमारी की संभावना रहती है इसलिए रोजाना फसलों का निरीक्षण करें और कृषि वैज्ञानिकों की सलाह के अनुसार ही दवाओं का छिड़काव करें।

बारिश से फसलों को होगा फायदा
मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार 9 जनवरी तक बादलवाही रहने तथा बरसात आने से दिन के तापमान में गिरावट आएगी तथा रात के तापमान में बढ़ोतरी होने की संभावना है। यहां बता दें कि इस समय यदि बरसात होती है तो पाला नहीं जमेगा जिससे सरसों, चना] सब्जी व हरे चारे की फसलें खराब नहीं होगी। वहीं बरसात के बाद मौसम साफ होने से धुंध छाएगी जो गेहूं की फसल के लिए फायदेमंद होगी।

खबरें और भी हैं...