पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

व्यवस्था:टिपरों में पार्टिशन करने के बाद भी नप नहीं बना पा रही शहर से गीला-सूखा कूड़ा अलग उठाने की व्यवस्था

कुरुक्षेत्र16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कुरुक्षेत्र | घर-घर से कूड़ा उठाने वाले टिपरों में बनाया पार्टिशन।
  • डीएमसी बोले-व्यवस्था बनाने पर चल रहा मंथन, आमजन का सहयोग भी जरूरी

गीले-सूखे कूड़े का अलग निस्तारण की व्यवस्था नगर परिषद लाख दावों के बावजूद भी नहीं बना पा रही है। घरों से कूड़ा उठाने को 82 टिपर जरूर नप ने लगाए हैं। इनमें अधिकतर में गीला-सूखा कूड़ा अलग करने को पार्टिशन भी नप करवा चुकी है। दो साल से गीला-सूखा कूड़ा अलग करने को डीसी से लेकर नप अधिकारी आदेश जारी कर चुके हैं।

इतना ही नहीं करीब दो माह से 100 सक्षम युवाओं की फौज भी नप ने इसी अवेयरनेस के लिए लगाई है, जो हर वार्ड में डोर-टू-डोर घरों में पहुंच आमजन को गीला-सूखा कूड़ा अलग डालने को जागरूक कर रही है, लेकिन हालात जस के तस बने हैं। शहर से गीला-सूखा कूड़ा अलग करना नप के लिए चुनौती बना है।

आमजन के सहयोग के बिना नहीं संभव- बना रही व्यवस्था

डिस्ट्रिक म्यूनिसिपल कमिश्नर नरेंद्रपाल मलिक का कहना है। गीला-सूखा कूड़ा की बेहतर सेग्रीगेशन को लेकर प्लानिंग चल रही है। इस संबंध में विशेषज्ञों से बातचीत चल रही है। ऐसे विकल्प पर विचार किया जा रहा है, जिससे गीला कूड़ा खाद के तौर पर तैयार हो सके। डीएमसी ने कहा आमजन के सहयोग के बिना गीला-सूखा कूड़ा को अलग करने की योजना सिरे नहीं चढ़ सकती। लिहाजा आमजन भी शहर की सफाई व पर्यावरण संरक्षण के लिए खुद की जिम्मेदारी समझ घरों में गीला-सूखा कूड़े के लिए दो डस्टबिन रखे।

कूड़ा अलग के साथ निस्तारण की भी हो व्यवस्था तो फायदा

पर्यावरणविद नरेश भारद्वाज कहते हैं, केवल घरों से गीला-सूखा कूड़ा अलग उठाने से व्यवस्था बनने वाली नहीं है। जबतक कूड़ा डंपिंग प्वाइंट पर इसके अलग निपटान की व्यवस्था नहीं होगी। तब तक घरों से कूड़ा अलग-अलग उठाने का भी कोई खास लाभ नहीं होगा।

गीले-सूखे कूड़ा को घर पर अलग-अलग करें शहरवासी

नगर परिषद के सेनेटरी इंस्पेक्टर संजय कुमार का कहना है, हर कोई घर में दो डस्टबिन रखे हरा व नीले रंग का डस्टबिन रखे। हरे रंग के डस्टबिन में गली कचरा डाले। इसमें गली सड़ी सब्जियां, फूल-पत्ते, नारियल के छिलके, मुरझाये फूल, फलों के छिलके, बची चायपत्ती, खराब डबल रोटी, बिस्कुट व ब्रेड आदि। वहीं नीले डस्टबिन में सूखा कचरा जिसमें प्लास्टिक पॉलिथिन, दूध कै पैकेट, प्लास्टिक बोतल, चॉकलेट, बिस्कुट कुरकुरे, नमकीन आदि के रेपर, टूटा कांच गिलास, कप, मैटल धातु, लकड़ी, रबड़, जूते, चप्पल दवाओं के खाली कवर और बोतल आदि को डालें।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें