धर्म समाज:कुरुक्षेत्र तीर्थ की अष्ट कोसी परिक्रमा 11 को, 24 किलोमीटर एरिया को करेगी कवर

कुरुक्षेत्रएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कुरुक्षेत्र तीर्थ की अष्ट कोसी परिक्रमा 11 अप्रैल को सुबह 5 बजे आरंभ होगी। प्राचीन तीर्थ नाभी कमल मंदिर बाहरी के महंत विशाल मणिदास ने बताया कि यह अष्ट कोसी परिक्रमा मंदिर से आरंभ होकर शाम 7 बजे मंदिर में संपन्न होगी। इस दौरान यात्रा 24 किलोमीटर का सफर तय करेगी।

नाभि कमल तीर्थ से शुरू होकर यह तीर्थ यात्रा सोम तीर्थ कार्तिकेय मंदिर बाहरी, स्थाण्वीश्वर महादेव मंदिर, ब्रह्मामंदिर, दधिची तीर्थ, कुबेर तीर्थ, परशुराम तीर्थ, खीर सागर, नंदी-भौजी तीर्थ, सरस्वती तीर्थ खेड़ी मारकंडा, जिला कारागार के पीछे स्थित वृद्ध कन्या तीर्थ, ठाकुरद्वारा रत्नदक्ष पिपली, शिव मंदिर पलवल, औघड़ तीर्थ, बाण गंगा दयालपुर, अपगया तीर्थ, भीषम कुंड नरकातारी तीर्थों पर जाएगी। इसके पश्चात नाभीकमल तीर्थ में यह यात्रा संपन्न होगी। शाम 7 बजे नाभि कमल मंदिर में आरती के पश्चात प्रसाद वितरित होगा।

जगह-जगह तीर्थ यात्रा का स्वागत किया जाएगा। यात्रा में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि चैत्र कृष्ण चतुर्दशी को होने वाली तीर्थ यात्रा के बारे में शास्त्रों में वर्णित है कि जो व्यक्ति इस यात्रा का संकल्प करता है अथवा इस यात्रा में शामिल लोगों की सेवा करता है वह सभी पापों से मुक्त हो जाता है। बड़े ही पुण्यों के प्रताप से इस दुर्लभ यात्रा का अवसर मिलता है इसलिए यात्रा में बढ़-चढ़कर भाग लेना चाहिए।

खबरें और भी हैं...