पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसानों की समस्या:पैलेस में भाजपा पूर्वांचल समाज के सम्मेलन की भनक लगते ही सुबह पैलेस पहुंचे भाकियू सदस्य, लौटे वापस

कुरुक्षेत्र15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कुरुक्षेत्र | भाजपा पूर्वांचल सम्मेलन कार्यक्रम होने की भनक लगने पर पैलेस पहुंच रोष जताते भाकियू सदस्य। - Dainik Bhaskar
कुरुक्षेत्र | भाजपा पूर्वांचल सम्मेलन कार्यक्रम होने की भनक लगने पर पैलेस पहुंच रोष जताते भाकियू सदस्य।
  • कई दिन पहले रद्द हो चुका था कार्यक्रम, दोपहर तक पैलेस के बाहर पहरा देते रहे किसान

भारतीय किसान यूनियन के सदस्य रविवार को रॉयल रिसोर्ट में प्रस्तावित भाजपा पूर्वांचल समाज सम्मेलन की भनक लगते ही सक्रिय हो गए। चढूनी गुट से जिलाध्यक्ष कृष्ण कलाल माजरा के नेतृत्व में सुबह 11 बजे कई किसान पैलेस पहुंच गए, लेकिन वहां कोई कार्यक्रम की न तो तैयारी मिली, और न कोई भाजपा कार्यकर्ता या पदाधिकारी किसानों को वहां मिला। बताया जा रहा है, कार्यक्रम कई दिन पहले रद्द किया जा चुका है। दोपहर दो बजे तक पैलेस में भाकियू कार्यकर्ता डटे रहे। जब वहां कोई नहीं पहुंचा, तो किसान वहां से रवाना हुए।

कई जगह लगे थे होर्डिंग-भाजपा पूर्वांचल सम्मेलन कार्यक्रम था होना

कई जगह लगे होर्डिंग में कार्यक्रम की अध्यक्षता सांसद नायब सिंह सैनी द्वारा करनी थी। जबकि अतिथियों के तौर पर थानेसर विधायक सुभाष सुधा, सीएम के राजनीतिक सलाहकार कृष्ण बेदी, लाडवा के पूर्व विधायक डॉ. पवन सैनी और भाजपा के जिलाध्यक्ष राजकुमार सैनी ने शिरकत करनी थी।

भाजपा नेताओं का जारी रहेगा विरोध : भाकियू चढ़ूनी गुट से जिलाध्यक्ष कृष्ण कलाल माजरा, जिला महामंत्री अमरीक सिंह, हलका प्रधान मनोज कुमार, पवन सिरसला, कुलदीप घमूरखेड़ी, केवल सिंह, विक्रम, अशोक कुमार, धर्मबीर बहादुरपुरा ने कहा कि भाजपा नेता जानबूझ कर माहौल खराब करना चाह रहे हैं।

किसानों ने पहले ही चेताया हुआ है कि तीनों कृषि कानून रद्द करने से लेकर अन्य मांगें जबतक किसानों की नहीं मानी जाती, तबतक किसान किसी भी भाजपा नेता या मंत्री को सार्वजनिक कार्यक्रमों का विरोध करेंगे। इसके बावजूद जानबूझ कर इस तरह के कार्यक्रम रखकर टकराव के हालात बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...