पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मां का साहस:वेंटिलेटर पर दिया था बेटी को जन्म, कोरोना को हरा 27 दिन बाद घर लौटीं जसलीन

कुरुक्षेत्र23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कुरुक्षेत्र | 27 दिन बाद घर लौटीं जसलीन परिवार के साथ। - Dainik Bhaskar
कुरुक्षेत्र | 27 दिन बाद घर लौटीं जसलीन परिवार के साथ।
  • कोरोना होने पर बिगड़ी थी हालत, वेंटिलेटर पर करनी पड़ी थी गर्भवती जसलीन की प्री मेच्योर डिलीवरी, बेटी भी अब स्वस्थ

27 दिन बाद कोरोना को हराकर भगवानपुर निवासी जसलीन अपने घर लौट आई। अस्पताल से छुट्टी लेकर जब घर पहुंची तो दोनों बेटियां भी सीने से लग गई। सास ने भी माथा चूम कर उसे आशीर्वाद दिया। वहीं जसलीन की नवजात बेटी भी बिल्कुल स्वस्थ है। हालांकि प्री मेच्योर होने के चलते अभी उसे चाइल्ड स्पेशलिस्ट के पास ही एडमिट किया हुआ है। लेकिन अब वह पूरी तरह से स्वस्थ है। उसे अगले सप्ताह अस्पताल से छुट्टी दी जाएगी।

वेंटिलेटर पर हुई थी डिलीवरी: बता दें कि जसलीन ने 4 मई को वेंटिलेटर पर रहते हुए ही एक बेटी को जन्म दिया था। साढ़े सात माह की गर्भवती जसलीन की अचानक से हालत बिगड़ी थी। जिस पर 2 मई को परिजन उसे अस्पताल लेकर पहुंचे। लेकिन दो अस्पतालों में उसे एडमिट नहीं किया। जिस पर परिजन उसे सिविल अस्पताल ले गए। जहां से उसे कोविड डेडिकेटेड श्री बालाजी आरोग्यम अस्पताल ले आए।

अस्पताल में पता चला कि उसकी कोरोना के कारण हालत बिगड़ी है। उसके फेफड़ों में संक्रमण पहुंच गया था। डॉ. अनुराग कौशल व महिला सर्जन डॉ. नेहा खानेजा ने हालत देखते हुए उसे वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया। 4 मई को डॉ. नेहा की देखरेख में उसकी डिलीवरी हुई। डॉ. कौशल के मुताबिक यह पहला केस है, जिसमें वेंटिलेटर पर किसी कोरोना पीड़ित की डिलीवरी की गई। जसलीन ने एक बच्ची को जन्म दिया। हालांकि बच्ची को संक्रमण नहीं था।

एक महीने बाद सीने से लगी दोनों बेटियां

जिले में पहली बार कोरोना पीड़ित गर्भवती की हुई थी वेंटिलेटर पर डिलीवरी

बच्ची को किया था एडमिट, अब स्वस्थ, छुट्‌टी का इंतजार

जसलीन की करीब 7 हफ्ते पहले ही डिलीवरी करनी पड़ी थी। प्री मेच्योर होने के कारण उसकी बेटी को चाइल्ड स्पेशलिस्ट की देखरेख में दूसरे अस्पताल में रखना पड़ा। डॉ. तनुज के मुताबिक अब वह बिल्कुल ठीक है। 21 दिन जसलीन वेंटिलेटर पर रही। इसके बाद कुछ दिन ऑक्सीजन स्पोर्ट पर रखा गया। 27 दिन बाद जसलीन अपने घर पहुंची। जहां उसकी दोनों बड़ी बेटियां प्रेजल व जैसिक इंतजार कर रही थी। मां को 27 दिन बाद अपने बीच पाकर दोनों बेटियां सीने से लग गई। सास सुनीता ने माथा चूम कर उसे आशीर्वाद दिया।

कुरुक्षेत्र | अस्पताल में छुट्टी होने से पहले खुशी जताती जसलीन व डॉक्टर्स।
कुरुक्षेत्र | अस्पताल में छुट्टी होने से पहले खुशी जताती जसलीन व डॉक्टर्स।

पति गौरव ने कहा कि उनके लिए डॉक्टर भगवान का रूप हैं। जिन्होंने दिनरात उसकी देखरेख की। ससुर भूपेंद्र सिंह सूरा ने कहा कि जसलीन की बहन अंजू व देवरानी नीरू और दामाद मनोज भी लगातार 27 दिनों तक उनकी मदद के लिए अस्पताल में ही रहे। अब बहू स्वस्थ होकर घर लौट आई है, इसके लिए वे परमात्मा के शुक्रगुजार हैं।

खबरें और भी हैं...