पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समस्या:स्वच्छता रैंकिंग सुधारने की राह में रोड़ा, गीला-सूखा कूड़ा अलग करना नप के लिए बना चुनौती

कुरुक्षेत्र6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अलग उठाने का प्रयास नप कई साल से कर रही है। गीला-सूखा कूड़ा अलग-अलग उठाने को नप ने शहर में टिपरों में पार्टीशन से लेकर सहायकों तक की तैनाती कर रखी है। एनजीटी के आदेशों की अनुपालना को लेकर कई बार बैठकों में नप अधिकारी से लेकर डीसी तक गीला-सूखा कूड़ा उठाने के निर्देश दे चुके हैं। बाकायदा 50 से अधिक सक्षम युवाओं की फौज भी डोर टू डोर शहरवासियों को जागरूक करने को नप ने कई महीने से उतारी हुई है।

इसके बावजूद अलग-अलग कूड़ा उठान नप के लिए चुनौती बना है। बता दें कि कूड़े का बेहतर निस्तारण न होने का खामियाजा हर बार स्वच्छता सर्वेक्षण में भी नप को भुगतना पड़ता है। बेहतर सेग्रीगेशन में हर बार नप पिछड़ती है। गीला-सूखे कूड़े का अलग उठान कैसे हो, इसे लेकर नप के पास कोई ठोस योजना नहीं है। वहीं अधिकारियों का तर्क है कि शहरवासियों के बिना सहयोग के यह मुहिम सिरे नहीं चढ़ सकती। शहर में गीला-सूखा कूड़ा अलग उठान को लेकर कई साल से नप योजनाएं बना रही हैं।

नप की ओर से शहर में डोर टू डोर कूड़ा उठाने की व्यवस्था की गई है। लोग गीला-सूखा कूड़ा अलग-अलग डालें, इसके लिए कई साल पहले नप ने सभी घरों में नीले-हरे रंग के डस्टबिन बांटने की योजना बनाई थी लेकिन वह योजना सिरे नहीं चढ़ी। फिर आमजन को ही अपने स्तर पर घरों में दो डस्टबिन रखने के प्रति जागरूक किया।

इनगर परिषद के ईओ रविंद्र कुहाड़ का कहना है कि कूड़े के बेहतर निस्तारण के लिए गीला-सूखा कूड़ा अलग उठना जरूरी है। नप व्यवस्था बनाने का निरंतर प्रयास कर रही है। सक्षम युवा भी घर-घर जाकर लोगों को जागरूक कर रहे हैं लेकिन शहरवासियों के सहयोग के बिना यह मुहिम सिरे नहीं चढ़ पा रही है। उन्होंने शहरवासियों से सहयोग की अपील की।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- कुछ महत्वपूर्ण नए संपर्क स्थापित होंगे जो कि बहुत ही लाभदायक रहेंगे। अपने भविष्य संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने का उचित समय है। कोई शुभ कार्य भी संपन्न होगा। इस समय आपको अपनी काबिलियत प्रदर्...

और पढ़ें