पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:फंड की कमी से 5 माह से रुका तीर्थों का जीर्णोद्धार, निर्माण सामग्री की सैंपलिंग नहीं, न दोबारा शुरू हुए प्रोजेक्ट

कुरुक्षेत्र8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कुरुक्षेत्र | कालेश्वर तीर्थ पर रुका काम। - Dainik Bhaskar
कुरुक्षेत्र | कालेश्वर तीर्थ पर रुका काम।
  • पीडब्ल्यूडी अधिकारियों का तर्क- घटिया सामग्री यूज नहीं की, फंड की कमी के चलते रुके हैं काम
  • केडीबी अधिकारियों का तर्क- राजभवन में मीटिंग में रखे मुद्दे, औपचारिकताएं पूरी कर शुरू होंगे प्रोजेक्ट

संजीव राणा, कुरुक्षेत्र को विश्वस्तरीय पर्यटन नगरी बनाने को लेकर सरकार दावे कर रही है। श्रीकृष्णा प्रोजेक्ट समेत कई प्रोजेक्ट इसके लिए लागू किए हैं। जिसमें कुरुक्षेत्र व 48 कोस के प्राचीन व ऐतिहासिक तीर्थों के सौंदर्यीकरण व जीर्णोद्धार के दावे भी खूब हुए लेकिन कुछ पर काम शुरू नहीं हुआ। कई अभी तक काम शुरू होने की बाट देख रहे हैं।

यही नहीं कुछ तीर्थों पर पिछले करीब 5 महीनों से काम रुका हुआ है। यहां केडीबी के अधिकारियों ने खुद ही घटिया निर्माण सामग्री के प्रयोग होने के शक में कुछ तीर्थों पर काम को रोका था। 5 माह बाद भी दोबारा यहां काम शुरू नहीं हो पाया। ऐसे में तीर्थों पर भी अव्यवस्थाएं बनी हुई हैं। यही नहीं इसे लेकर सैंपलिंग तक नहीं हुई। वहीं कई तीर्थों पर अभी तक काम ही शुरू नहीं हुआ। इसे लेकर केडीबी फंड की कमी का हवाला दे रही है।

भेज चुके रिवाइज एस्टिमेट

केडीबी सौंदर्यीकरण व जीर्णोद्धार कार्य पीडब्ल्यूडी से करवा रही है। पीडब्ल्यूडी के मौजूदा एक्सईएन ने अभी तक अपने अधीन चल रहे प्रोजेक्ट की विजिट भी नहीं की। वहीं काम देख रहे जेई चरणजीत सिंह का कहना है कि कालेश्वर तीर्थ पर कोई घटिया सामग्री यूज नहीं की गई।

यहां काम फंड की कमी से अटका है। 64 लाख रुपए में यह काम होना था। इसमें से केडीबी की तरफ से 30 लाख रुपए ही दिए गए हैं। वहीं काम्यकेश्वर तीर्थ पर 20 लाख खर्च होने थे। लेकिन मौके पर कुछ काम और बढ़ गया। यहां के लिए रिवाइज एस्टिमेट करीब 29 लाख का बनाकर भेजा है। ऐसे ही कुबेर तीर्थ व काम्यकेश्वर व सूरजकुंड तीर्थों पर भी फंड की कमी से काम अटका है।

केडीबी के सीईओ अनुभव महता का कहना है कि जो प्रोजेक्ट रुके हैं, वे उनके आने से पहले के रुके हुए हैं। कुछ दिन पहले राजभवन में हुई मीटिंग में इन तीर्थों के प्रोजेक्ट संबंधित मुद्दे को रखा गया है। जल्द ही इस संबंध में औपचारिकताएं पूरी कर काम को शुरु कराया जाएगा।

मानद सचिव मदन मोहन छाबड़ा ने बताया कि वे खुद तीर्थों पर काम देख रहे हैं। सीएम घोषणा के तहत काम चल रहा है। कुछ एक तीर्थों पर विभिन्न कारणों से काम में देरी हो रही है, वहां भी जल्द काम शुरु होंगे।

कालेश्वर तीर्थ पर अटका काम

शहर में स्थानेश्वर महादेव मंदिर के पास व सरस्वती तीर्थ पर ऐतिहासिक कालेश्वर महादेव मंदिर है। इस तीर्थ के जीर्णोद्धार व सौंदर्यीकरण का काम केडीबी ने अपने हाथ में लिया था, लेकिन पिछले करीब 5 महीनों से काम बीच में अटका हुआ है। कालेश्वर समेत शहर के कुछ और तीर्थों पर भी ऐसे ही काम अटका है। सूत्रों के मुताबिक केडीबी के पूर्व सीईओ ने यहां कुछ माह पहले विजिट की थी। तब उन्होंने निर्माण सामग्री के घटिया होने का शक हुआ।

इसके चलते काम रुकवा दिया गया। खास बात यह है कि इस संबंध में पत्र भी बाद में ही लिखा गया, लेकिन अभी तक यहां सामग्री का सैंपल भी नहीं हो पाया। इसके बावजूद काम रुका हुआ है। यहां करीब 60 लाख रुपए से सौंदर्यीकरण होना है। ऐसे ही ननद भौजी तीर्थ, कुबेर तीर्थ व सरस्वती घाट का काम रुका है। इन चारों तीर्थों पर एक करोड़़ से अधिक का काम होना है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कई प्रकार की गतिविधियां में व्यस्तता रहेगी। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने में समर्थ रहेंगे। तथा लोग आपकी योग्यता के कायल हो जाएंगे। कोई रुकी हुई पेमेंट...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser