पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

किसानों और आढ़तियों से भी रू-ब-रू:पूर्व सीएम हुड्डा ने किया कुरुक्षेत्र  की 3 मंडियों का दौरा, किसानों व आढ़तियों की समस्याएं जानी

कुरुक्षेत्र10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बोले-सरकार किसानों का सहयोग करे, उनके नाम पर रोज नए प्रयोग करने से बाज आए

पूर्व सीएम व नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने गुरुवार को जिले की तीन अनाज मंडियों का दौरा किया। इस दौरान किसानों और आढ़तियों से भी रू-ब-रू हुए। खरीद बंदोबस्त को लेकर सरकार पर निशाना साधा। इससे पहले कुरुक्षेत्र पहुंचने पर पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा व लाडवा विधायक मेवा सिंह की अगुवाई में कांग्रेसियों ने उनका स्वागत किया।

हुड्डा ने कहा कि उन्हें लगातार प्रदेशभर से किसानों की शिकायतें मिल रही थी। एक अप्रैल से खरीद का एलान करने के बावजूद सरकार ने मंडियों में उचित व्यवस्था नहीं की। मंडी में पहुंच रहे किसानों को नमी ज्यादा होने, वेब पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन न करवाने और सर्वर डाउन का बहाना बनाकर परेशान किया जा रहा है। सरकार किसानों का सहयोग करे। उनके साथ रोज-रोज नए प्रयोग करने से बाज आए।

एमएसपी के चलते घटाई नमी : उन्होंने सरकार के गेहूं में नमी की मानक सीमा को 14% से घटाकर 12% करने के फैसला का भी विरोध किया। कहा कि किसानों को फसल का एमएसपी न देना पड़े, इसलिए सरकार ने नमी की मान्य मात्रा को घटाने का फैसला लिया है। अब मंडियों में वहीं गेहूं खरीदा जाएगा जिसमें नमी 12 प्रतिशत से कम होगी। पहले 14 प्रतिशत तक नमी वाले गेहूं की भी खरीद होती थी। इतना ही नहीं पहले एक क्विंटल में 0.75 प्रतिशत मिश्रित मात्रा (राई, सरसों, भूसा आदि) होने पर गेहूं की तोल करवाई जाती थी। इस बार ये मानक घटाकर 0.50 प्रतिशत कर दिया है।

डीएपी के दाम घटाए सरकार : हुड्डा ने कहा कि सरकार का रवैया हमेशा से किसान विरोधी रहा है। आय डबल करने का झूठा नारा देकर सरकार लगातार खेती की लागत बढ़ाने में लगी है। सरकार ने डीएपी खाद का रेट 700 रुपए बढ़ाने का फैसला लिया है। पहले से पेट्रोल-डीजल के रेट में बढ़ोत्तरी से किसान परेशान है। ये इतिहास में पहली बार हुआ है जब किसी सरकार ने डीएपी के दाम में इतनी बड़ी बढ़ोत्तरी की है। सरकार को इसे फौरन वापस लेना चाहिए।

आढ़तियों से मिले हुड्डा : इस दौरान मंडी में हरियाणा आढ़ती एसोसिएशन के प्रतिनिधियों से मुलाकात की। आढ़तियों ने बताया कि सरकार ने उन्हें पेमेंट के फैसले को किसानों पर छोड़ने का आश्वासन दिया था। ये किसान की मर्जी होगी कि वो आढ़ती के जरिए पेमेंट लेना चाहता है या सीधे अपने खाते में लेना चाहता है, लेकिन, अब सरकार अपने फैसले से मुकर रही है। इस पर हुड्डा ने कहा कि सरकार को चाहिए कि आढ़तियों की मांग माने। वरना आढ़ती का व्यापार भी चौपट हो जाएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें