​​​​​​​बढ़ा विवाद:टेंट में भाजपाइयों ने कैप्टन व कांग्रेस को कोसा, कांग्रेसियों ने भी लगाए नारे

कुरुक्षेत्र4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कुरुक्षेत्र। कांग्रेस भवन के निकट टेंट लगा बैठे भाजपाई। - Dainik Bhaskar
कुरुक्षेत्र। कांग्रेस भवन के निकट टेंट लगा बैठे भाजपाई।
  • आमने-सामने होने से बचे कांग्रेसी व भाजपाई

पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन के आंदोलनकारी किसानों को हरियाणा व दिल्ली में प्रदर्शन करने वाले बयान पर भाजपा ने कांग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। शनिवार को भाजपा ने कांग्रेस मुख्यालय के बाहर धरना देने का एलान किया था। इस पर कांग्रेस भी काउंटर करने आनन-फानन में मैदान में उतर गई। दोनों ही पार्टियां शनिवार को आमने सामने बैठ गई।

सामने की बजाए कोने पर लगा टेंट : पहले भाजपा की तरफ से कहा कि कांग्रेस भवन के ठीक सामने धरना होगा, लेकिन सुबह काफी संख्या में कांग्रेसी नेता व कार्यकर्ता कांग्रेस भवन में जुट गए। कांग्रेसियों को कांग्रेस भवन में देख ठीक सामने की बजाए भाजपा ने सेक्टर-13 मार्केट के कोने पर हुडा की जगह में टेंट लगाया। ताकि कहीं दोनों पक्षों के कार्यकर्ताओं में हाथापाई या बहस से बचा जा सके।

न सांसद, न एमएलए पहुंचे : भाजपा की तरफ से कैथल इकाई के पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी कुरुक्षेत्र के धरने में पहुंचे, लेकिन स्थानीय सांसद नायब सैनी व विधायक सुभाष सुधा धरने में नहीं आए, दोनों को किसी कार्य से बाहर जाना पड़ गया।

दोपहर तक किया प्रदर्शन दोनों पार्टियों को आमने-सामने देख पुलिस प्रशासन भी हरकत में रहा। पुलिस की एक टीम प्रदर्शनकारियों से कुछ ही दूरी पर तैनात रही। दोपहर तक दोनों पक्षों ने नारेबाजी की। जब दोनों पक्ष निकले, तब जाकर पुलिस प्रशासन ने राहत की सांस ली।

कैप्टन को कांग्रेस ने किया बर्खास्त : डॉ. पवन सैनी प्रदेश महामंत्री
प्रदेश महामंत्री डॉ. पवन सैनी ने कैप्टन अमरेन्द्र सिंह का बयान गैर जिम्मेदाराना व निंदनीय है। कांग्रेस से मांग करते हैं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह को बर्खास्त किया जाए। किसी भी कांग्रेसी ने उनके बयान का विरोध नहीं किया। इससे कांग्रेस के प्रदेश व देश प्रेम का भी पता चल रहा है। कांग्रेस को किसानों का हित हजम नहीं हो रहा। जिलाध्यक्ष राजकुमार, कैथल जिलाध्यक्ष अशोक गुर्जर, लोकसभा निगरानी कमेटी के संयोजक धर्मवीर डागर, पूण्डरी के पूर्व विधायक तेजवीर सिंह, पूर्व विधायक कुलवंत बाजीगर, साहिल सुधा, विस्तारक नरेन्द्र डाबला, सुशील राणा, युवा जिलाध्यक्ष रुबल शर्मा, दीपक चौहान, सुनील राय, श्याम लाल जांगड़ा, पवन आश्री, जिला मीडिया प्रभारी विनीत क्वात्रा मौजूद रहे।

काउंटर को जुटे कांग्रेसी : भाजपा के कांग्रेस भवन पर प्रदर्शन की भनक कांग्रेस को लगी। जिसपर प्रदेशाध्यक्षा कुमारी सैलजा ने शुक्रवार रात को संदेश जारी किया। उन्होंने कहा कि भाजपा ड्रामेबाजी कर रही है। इसका कांग्रेस भवन में एकत्रित होकर शांतिपूर्वक जवाब दें। जिस पर सुबह कांग्रेसी कांग्रेस भवन में जुटे।

शर्म की बात है कि भाजपाई कांग्रेस कार्यालय के सामने प्रदर्शन कर रहे : अरोड़ा
पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा ने कहा कि शर्म की बात है कि भाजपाई कांग्रेस कार्यालय के सामने प्रदर्शन कर रहे हैं। यह ड्रामा है। जो लोग सरकार में हैं, वे विपक्षी दल के मुख्यालय पर धरना दे रहे हैं। भाजपा नेताओं को चाहिए था कि तीन काले कृषि कानूनों को रद्द करवाने के लिए आंदोलनरत किसानों के समर्थन में प्रधानमंत्री के निवास पर जाकर प्रदर्शन करते। प्रदर्शन ही करना है तो बढ़ती मंहगाई, रसोई गैस व बेरोजगारी के खिलाफ करें। अशोक ने कहा कि 40 साल से वे राजनीति कर रहे हैं, लेकिन ऐसी स्थिति कभी नहीं देखी कि सत्ता पक्ष के लोग लोगों की समस्याओं की तरफ से आंखें मूंद लें और विपक्ष के कार्यालयों पर धरना दें। यदि इनकी कोई मांग है तो डीसी को ज्ञापन देते। बाजारों में प्रदर्शन करें, लेकिन यदि कांग्रेस के कार्यालय के बाहर धरना देंगे तो कांग्रेसी इसका विरोध करेंगे। यह सब किसान आंदोलन व महंगाई से लोगों का ध्यान भटकाना चाहते हैं। मौके पर सुरेश यूनिस्पुर, लक्ष्मीकांत शर्मा, बलजीत सिंह, अशोक शर्मा ठेकेदार, सुरेंद्र फौजी, सुरेंद्र मिर्जापुर, हिमांशु अरोड़ा, मेहर सिंह रामगढ़, प्रवेशराणा, निशी गुप्ता, सुनीता समेत कई वर्कर व नेता मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...