सीएम विंडो पर की शिकायत:मीटर बदलने के नाम पर जेई पर सुविधा शुल्क मांगने का अरोप

कुरुक्षेत्र11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सेक्टर-17 के एक शाेरूम मालिक ने बिजली निगम के जेई पर मीटर बदलने की एवज में सुविधा शुल्क मांगने का अरोप लगाया है। मालिक ने इसकी शिकायत सीएम विंडो व विभागीय उच्च अधिकारियों से की है। बुधवार को मालिक व अन्य दुकानदार बिजली निगम कार्यालय में उच्च अधिकारियों से भी मिलने पहुंचे। शिकायतकर्ता बलदेव राज ने बताया कि उनकी दुकान पर 10 किलोवाट का मीटर लगा हुआ है।

2 सितंबर को बिजली मीटर का एक फेज जल गया जिसकी शिकायत उन्होंने विभाग को दर्ज कराई। शिकायत के दर्ज कराते ही कुछ समय बाद ही शिकायत के समाधान का मैसेज आ गया जिसके बाद 3 सितंबर को फिर से विभाग में लिखित रुप में शिकायत दर्ज कराई लेकिन समस्या का फिर भी समाधान नहीं हुआ। 19 सितंबर को फिर से ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराई गई। उसके बाद 23 सितंबर को विभाग द्वारा लाइनमैन भेजकर मीटर चेंज कराया गया।.

मीटर चेंज करने के बाद उक्त कर्मचारियों ने सुविधा शुल्क की मांग की लेकिन उन्हें कोई सुविधा शुल्क नहीं दिया गया। शिकायतकर्ता ने बताया कि 5 अक्टूबर को फिर से दोनों कर्मचारी शोरुम पर पहुंचे जिनके हाथ में रजिस्टर था। मौके पर मौजूद शोरूम संचालक से मीटर बदले जाने को लेकर साइन कराने लगे। संचालक ने साइन करने से पहले मुझे कॉल कर जानकारी दी जिस पर मैंने रजिस्टर में साइन न करने की बात कही।

शिकायतकर्ता बलदेव ने बताया कि इसी दौरान शोरूम संचालक ने बिजली निगम के कर्मचारियों से रजिस्टर की फोटो खींच ली जहां वह साइन कराने आए थे। बलदेव ने बताया कि जब उन्होंने आकर फोन में खींची गई फोटो को देखा तो वह दंग रह गए। बलदेव ने बताया कि बिजली कर्मचारी एलएल वन पर साइन कराने आए थे लेकिन उनकी कोई एलएल वन नहीं कटी।

बलदेव ने बताया कि विभागीय जेई कार्तिक ने 27 सितंबर को घर पर बैठकर एलएल वन काटी। बलदेव ने बताया कि जेई कार्तिक उसे फंसाना चाहता है। उक्त जेई व शोरूम पर आए दोनों कर्मचारियों पर कार्रवाई हो। वहीं जेई कार्तिक ने कहा कि उनपर लगे आरोप निराधार हैं। उनकी तरफ से किसी को परेशान नहीं किया गया। बुधवार को कुछ लोग इस मामले में एक्सईएन व एसई को मिले हैं।

खबरें और भी हैं...