पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वामन द्वादशी मेला:प्रसाद में बंटेगा देसी घी से बना कसार, दुखभंजन मंदिर में तैयार होंगे 5000 पैकेट

कुरुक्षेत्र3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कुरुक्षेत्र | सन्निहित पर हुई महाआरती की रिहर्सल। - Dainik Bhaskar
कुरुक्षेत्र | सन्निहित पर हुई महाआरती की रिहर्सल।
  • श्री ब्राह्मण एवं तीर्थोद्वार सभा तैयार करेगी प्रसाद, कबड्डी व कुश्ती दंगल के साथ सन्निहित पर शुरू होगी महाआरती

25 साल बाद धर्मनगरी में वामन द्वादशी मेला दोबारा शुरू होने जा रहा है। इसकी घोषणा पिछले माह हो चुकी है, लेकिन अब आयोजन ऐन मौके पर तय हो रहे हैं। मेले में इस बार 16 सितंबर से 2 दिवसीय कबड्डी व कुश्ती दंगल भी होगा। मैक में सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे।

मेले से 2 दिन पहले ये कार्यक्रम तय हुए हैं। ऐसे में सवाल ये एक दिन में कैसे दंगल का प्रचार-प्रसार होगा। सूत्रों के मुताबिक कोविड को देखते हुए प्रशासन ने खेल विभाग को दर्शकों की ज्यादा भीड़ न जुटाने के भी आदेश दिए हैं। वहीं, द्वादशी के उपलक्ष्य में कुरुक्षेत्र में वामन भगवान को प्रसाद के रूप में कसार का भोग लगाया जाता है। ऐसे में कुरुक्षेत्र में मेले में कसार का प्रसाद बंटेगा। श्री ब्राह्मण एवं तीर्थोद्वार सभा के प्रधान महासचिव रामपाल शर्मा के मुताबिक प्रसाद देसी घी के साथ तैयार किया जाएगा। इसके 5 हजार पैकेट दुखभंजन मंदिर में तैयार कराएंगे। हर पैकेट में करीब 20 ग्राम कसार होगा। प्रसाद कथा व शोभायात्रा के दौरान बांटा जाएगा।

थीम पार्क में दो दिन कुश्ती-दंगल
मंगलवार शाम को घोषणा हुई कि वामन द्वादशी पर 16 व 17 सितम्बर को थीम पार्क में कबड्डी व कुश्ती दंगल कराया जाएगा। वामन कुमार और वामन केसरी कुश्ती दंगल और कबड्डी नेशनल स्टाइल ओपन का आयोजन किया जाएगा। मीटिंग में मानद सचिव मदन मोहन छाबड़ा और डीएसओ बलबीर सिंह, सदस्य विजय नरूला, जिला कुश्ती संघ के पूर्व जिला उपाध्यक्ष राजेश शांडिल्य, कुश्ती कोच शमशेर सिंह और कबड्डी कोच जय भगवान उपस्थित रहे।

वामन कुमार व केसरी चुने जाएंगे
दंगल में 5 श्रेणी की कुश्तियां होंगी। इनमें 40, 50, 60 किलोग्राम वजन के खिलाड़ी मैदान में उतरेंगे। प्रथम खिलाड़ी को 5 हजार और द्वितीय को 3 हजार का नकद पुरस्कार दिया जाएगा। 74 किलोग्राम वजन के विजेता को वामन कुमार का प्रशस्ति पत्र और 15 हजार और द्वितीय को 8 हजार नकद राशि का पुरस्कार वितरण किया जाएगा। 74 किलोग्राम से ऊपर के विजेता खिलाड़ी को वामन केसरी के प्रशस्ति पत्र के साथ 21 हजार और 11 हजार का नकद पुरस्कार दिया जाएगा। कोच जय भगवान ने बताया कि कबड्डी नेशनल स्टाइल पुरुष ओपन की स्पर्धा होगी। एक टीम के 10 सदस्य भाग लेंगे। प्रथम टीम को 51 हजार, द्वितीय 31 हजार और तृतीय टीम को 21 हजार का इनाम मिलेगा। जिला खेल अधिकारी बलबीर सिंह के मुताबिक दर्शक संख्या सीमित रहेगी। विभाग के पास खिलाड़ियों-पहलवानों के मोबाइल नंबर हैं, उनसे संपर्क कर रहे हैं। कोई भी खिलाड़ी भागीदारी कर सकता है। एंट्री 16 सितंबर को सुबह 10 बजे तक होगी। मानद सचिव के मुताबिक विजेताओं को खेलमंत्री संदीप सिंह व कृष्ण कृपा परिवार की तरफ से इनाम दिए जाएंगे।

शुरू होगी सन्निहित की महाआरती
वहीं तीर्थोद्धार सभा की ओर से ब्रह्मसरोवर की तर्ज पर महाआरती होगी। इसमें जियाे गीता मदद कर रही है। बुधवार शाम तक तीर्थ पर आरती स्थल तैयार हो जाएगा। वहीं मंगलवार शाम को आरती की रिहर्सल हुई। सभा के अधीन वेदपाठी ब्रह्मचारी रोजाना शाम को महाआरती करेंगे।

राज्यपाल कर सकते हैं घोषणा
मेले में 2 दिन शेष हैं। राज्यपाल के दौरे को लेकर मंगलवार देर रात तक भी केडीबी के पास प्रोग्राम नहीं पहुंचा। हालांकि राज्यपाल का दौरा तय हो गया है। सभा को 11 बजे का समय प्रशासन व केडीबी की तरफ से दिया है। सभा के मुख्य संरक्षक जयनारायण शर्मा के मुताबिक 16 सितंबर को 11 बजे राज्यपाल के दौरे की सूचना है। राज्यपाल सुबह 11 बजे पहले सन्निहित पर वामन भगवान का पूजन करेंगे। इसके बाद विधिवत दोबारा से मेला शुरू होने की घोषणा भी कर सकते हैं।

खबरें और भी हैं...