स्कूल-कालेज, जिम रहेंगे बंद / लॉकडाउन-4, रियायतें तीसरे चरण की, तय दिनों से खुलेंगी दुकानें

Lockdown-4, Concessions of Phase III, Shops to open from fixed days
X
Lockdown-4, Concessions of Phase III, Shops to open from fixed days

  • अभी नहीं खुलेंगे मंदिरों के कपाट, कंटेनमेंट जोन में सिर्फ आवश्यक सेवाओं की अनुमति

दैनिक भास्कर

May 19, 2020, 05:00 AM IST

कुरुक्षेत्र. लॉकडाउन आगे बढ़ चुका है। चौथे चरण का लॉकडाउन अब 31 मई तक चलेगा। तीसरे चरण में शुरू हुआ रियायतों का दौर इस चरण में भी जारी रहेगा, लेकिन स्कूल, कॉलेज व जिम एवं कोचिंग सेंटर बंद रहेंगे। मंदिरों के कपाट भी अभी नहीं खोले जाएंगे। डीसी धीरेंद्र खड़गटा ने धारा 144 फिर से लागू की है। इसके तहत पांच से ज्यादा लोगों के एक जगह एकत्रित रहने पर पाबंदी रहेगी। उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र के प्रत्येक व्यक्ति को स्वस्थ रखने के लिए लॉकडाउन-4 के आदेशों की सख्ती से पालना करनी होगी। जिले को कोरोना फ्री जोन बनाने के लिए पब्लिक का सहयोग जरूरी है। लिहाजा 31 मई तक लॉकडाउन के आदेशों की पालना करनी होगी। अवहेलना पर कार्रवाई की जाएगी। 
रेस्टोरेंट की चलेंगी रसोई, लेकिन पैकिंग में डिलीवरी : जिले में बस, रेल सेवा, स्कूल-कॉलेज, शिक्षण संस्थान, प्रशिक्षण और कोचिंग सेंटर पूर्णत: बंद रहेंगे। यह शिक्षण संस्थान केवल ऑनलाइन  बच्चों को घर बैठे प्रशिक्षित कर सकते हैं। इसके अलावा होटल, रेस्टोरेंट अन्य हास्पेटलिटी सेवाओं पर प्रतिबंध रहेगा। केवल रेस्टोरेंट को रसोई चलाने की अनुमति दी गई है ताकि इस रसोई से भोजन की होम डिलीवरी और पैकिंग का कार्य किया जा सके। उन्होंने कहा कि सभी सिनेमा घर, शापिंग माल, जिम, स्वीमिंग पूल , मनोरंजक पार्क, बार, ऑडिटोरियम, असेम्बली हाल भी बंद रहेंगे। स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स को खोलने की अनुमति दी गई है, लेकिन इसमें दर्शक नहीं आ सकेंगे।  
नहीं खुलेंगे मंदिरों के कपाट, बड़े कार्यक्रमों पर भी प्रतिबंध 
जिले में सन्निहित व प्राची तीर्थ पर कर्मकांड की अनुमति प्रशासन दे चुका है, लेकिन चौथे लॉकडाउन में भी मंदिरों के कपाट नहीं खुलेंगे। इसके अलावा सभी सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजक, शैक्षणिक, धार्मिक, सांस्कृतिक और बड़ी संख्या में भीड़ वाले कार्यक्रमों पर भी प्रतिबंध रहेगा। डीसी के मुताबिक सभी धार्मिक स्थल लोगों के लिए बंद रहेंगे। अंतरराज्यीय वाहनों और बसों के आवागमन के लिए राज्यों की सहमति होनी जरूरी है। इतना ही नहीं यात्रियों के लिए वाहनों और बसों की अनुमति सरकार ही देगी। 
जिले में बने हैं तीन कंटेनमेंट जोन, अभी नहीं राहत 
जिले में हरिगढ़ भौरख, धनानी व शुगर मिल कॉलोनी एरिया कंटेनमेंट जोन है। इन जोन में आवश्यक सेवाओं के अलावा किसी को मूवमेंट करने की इजाजत नहीं दी मिलेगी। यहां सभी को आरोग्य सेतु एप को अपने मोबाइल पर डाउनलोड करना होगा। उन्होंने कहा कि मेडिकल सेवाएं, पैरामेडिकल स्टाफ, सेनिटाईजेशन करने वाले कर्मचारी, एंबुलेंस पर कोई पाबंदी नहीं होगी। अंतरराज्य सीमाओं में भी आवश्यक वस्तुओं वाले वाहनों के आवागमन पर कोई रोक नहीं रहेगी। सभी एसडीएम और पुलिस अधिकारी इन आदेशों की पालना कराएंगे। 
तय रहेगा बाजारों का शेड्यूल, रोस्टर से खुलेंगी दुकानें 
लॉकडाउन-4 में भी कुरुक्षेत्र में बाजारों और दुकानें तय रोस्टर के अनुसार ही खुलेंगी। समय सारिणी के अनुसार दूध, डेयरी उत्पाद, मिठाइयों की दुकान, टी-स्नैक्स स्टाल, सब्जी-फल, दवा की दुकान, मेडिकल स्टोर, करियाना स्टोर, हरे, सूखे  उत्पाद, बेकरी, कान्फेक्शरी, पेस्टीसाइड, बीज, फर्टीलाइजर, कृषि उत्पाद, बुक स्टाल, स्टेशनरी, फोटो स्टेट, फार्म, वीटा बूथ, ड्राई क्लीनर की दुकानें रोजाना सुबह 7 से सायं 5 बजे तक खुली रहेंगी। घर-घर दूध की सप्लाई सुबह 7 से 9 बजे तक और सायं 5 बजे से साढ़े छह बजे तक होगी। रविवार को दवा, दूध-डेयरी, बार्बर व सैलून की दुकानें ही खुली रहेंगी। बाकी सभी दुकानें बंद रहेंगी।
ये खुलेंगी सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को
जरनल स्टोर, जूते -चप्पल, कपड़े की दुकानें, रेडीमेड गारमेंटस, हैंडलूम्स, गिफ्ट, खिलौने, क्रोकरी, बर्तन, ज्वैलरी, ओप्टिकल, घडियों, टेंट हाउस, बार्बर व सैलून की दुकानें तीन दिन  सोमवार, बुधवार व शुक्रवार को सुबह 7 बजे से सायं 5 बजे तक खुलेंगी। बाकी दिनों में यह दुकानें पूर्णत: बंद रहेंगी। बार्बर व सैलून रविवार को भी खुले रहेंगे। 
ये दुकानें खुलेंगी मंगलवार, गुरुवार और शनि को 
आयरन स्टोर, हार्डवेयर स्टोर, प्रिंटिंग प्रेस, सेनेटरी स्टोर, शटरिंग मैटिरियल, बिल्डिंग निर्माण सामग्री, स्टोन/टाईल्स, इलेक्ट्रिक व इलेक्ट्रॉनिक गुडस, मोबाईल, आईटी, कम्प्यूटर सेल एंड सर्विस स्पेयर, फर्नीचर (लकड़ी व प्लास्टिक), टाल, आटोमोबाईल, ऑटो स्पेयर पार्टस, टायर-टयूब की दुकानें मंगलवार, गुरुवार  व शनिवार को सुबह 7 बजे से सायं 5 बजे तक ही खुलेंगी। 
होटल-धर्मशाला में बना सकते हैं क्वॉरेंटाइन सेंटर 
डीसी ने कहा कि विभिन्न देशों और राज्यों से आने वाले लोगों को क्वारेंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है। अगले कुछ दिनों में बाहर से काफी लोगों के आने की उम्मीद है। ऐसे में धर्मशाला व होटल को क्वारेंटाइन सेंटर बनाया जा सकता है।  पिपली पैराकिट, नीलकंठी यात्री निवास, जाट व गुर्जर धर्मशाला में शैल्टर होम पहले से है। इसके अलावा कुछ निजी होटलों को भी क्वांरेटाइन सेंटरों के लिए चिन्हित किया है। इन सभी निजी होटलों के दाम भी तय करे हैं। इन होटलों में होटल डिवाईन, क्लार्क इन, होटल पर्ल मार्क रेलवे रोड़, होटल मेजबान रेलवे रोड़, कृष्णा महल, होटल क्राउन जीटी रोड़, किमाया होटल, एम्पायर मिर्जापुर, स्पाईर गोल्ड, रिवर रिजार्ट मिर्जापुर, पैराडाइज होटल मिर्जापुर, तृप्ति गेस्ट हाउस रेलवे रोड़, सैफरॉन होटल, वेता होटल उमरी शामिल है। इन होटलों को कम से कम 14 दिन के लिए क्वांरेटाइन के लिए लिया जा सकता है। इसके लिए बाकायदा होटलों के कमरे के दाम चुकाए जाएंगे। 
रात 7 से सुबह 7 बजे तक सबकुछ रहेगा बंद 
रात सात से सुबह सात बजे तक कर्फ्यू की स्थिति रहेगी। डीसी ने कहा कि सरकार की ओर से कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप के कारण लॉकडाउन को 18 मई से 31 मई तक 14 दिन के लिए बढ़ा दिया गया है। इसलिए कुरुक्षेत्र में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत 31 मई  तक लॉकडाउन-4 के दौरान रात्रि 7 बजे से सुबह 7 बजे तक कर्फ्यू जैसी स्थिति बनी रहेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना