मंडी में असुविधा:गेहूं की आवक अधिक होने से मंडियां जाम, आज से शेड्यूल के तहत कटेंगे गेट पास

कुरुक्षेत्र8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • थानेसर मंडी में सोमवार दो बजे के बाद 24 घंटे के लिए गेट पास काटने किए बंद, ब्रह्मसरोवर की पार्किंग भी हुई फुल

गेहूं सीजन तेजी पकड़ते ही मंडियों में व्यवस्था बिगड़ने लगी है। एक साथ बढ़ी आवक को देखते हुए थानेसर अनाज मंडी में सोमवार दोपहर दो बजे के बाद किसानों को गेट पास काटने बंद कर उठान पर फोकस किया गया। वहीं मार्केट कमेटी ने दोबारा से शेड्यूल अनुसार ही किसानों को बुलाने की व्यवस्था शुरू कर दी है। ताकि मंडी में एक साथ किसान न आए और जाम के हालात न बनें।

अधिकारियों का कहना है, 24 घंटे के लिए किसानों को गेट पास देने बंद किए हैं, इस दौरान मंडी में उठान में तेजी लाकर व्यवस्था बन सके और मंडी जाम न हो सके। उधर मंडी में जगह कम पड़ने व मार्केट कमेटी द्वारा गेट बंद करने के बाद प्रशासन के मनाही के बावजूद ब्रह्मसरोवर की पूर्व व दक्षिण की ओर स्थित दोनों पार्किंग गेहूं से फुल हो गई।

मंडी में अटका पांच लाख से अधिक कट्टा : थानेसर अनाज मंडी में पांच लाख से अधिक कट्टा उठान के इंतजार में पड़ा है। मंडी की सभी प्लेटी से लेकर सड़कों तक गेहूं के कट्टों के अंबार लगे हैं। ब्रह्मसरोवर की पार्किंग व कई राइस मिलों में भी गेहूं की तुलाई चल रही है।

पहली बार ऑनलाइन साफ्टवेयर के जरिए ही उठान के लिए ट्रक व्यापारियों के पास पहुंच रहे हैं, जिससे व्यापारी नजराना देने से तो बचे हैं, लेकिन फिलहाल साफ्टवेयर की पूरी जानकारी न होने के चलते कई बार आढ़ती जितना माल उसके पास तैयार होता है, उससे अधिक ट्रक ऑनलाइन भेजने को आवेदन कर देते हैं, व्यापारी के पास न तो इतनी लेबर होती, कि वह माल की लोडिंग कर सके। इससे कई-कई घंटे एक ही दुकान पर ट्रक खड़े रहते हैं। जबकि जिस व्यापारी को ट्रक की जरूरत होती है, उसे नहीं मिल पाता।

एसडीएम अखिल पिलानी का कहना है, मंडी में आवक एक साथ होने के चलते जाम के हालात बन गए हैं, लिहाजा उठान में तेजी लाने को गेट पास सोमवार दोपहर दो बजे से 24 घंटे के लिए बंद किए गए हैं, ताकि उठान में तेजी लाई जा सके। वहीं मंगलवार से मोबाइल पर आए मैसेज के हिसाब से तय शेड्यूल अनुसार ही किसान का गेट पास काटा जाएगा।

मंडी से बाहर गेहूं गिराने की अनुमति देने को एसो. मिली प्रशासन से

नई अनाज मंडी थानेसर की तीनों आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान सुशील सिंगला, कृष्ण कुमार और अंग्रेज सिंह सोमवार को एडीसी से मिले। सुशील सिंगला ने बताया उन्होंने एडीसी से गुहार लगाई कि मंडी पूरी तरह जाम हो चुकी है, बाहर ब्रह्मसरोवर आदि पर गेहूं डालने की अनुमति दी जाए, सुशील सिंगला का कहना है, एडीसी ने अनुमति देने का आश्वासन दिया है।

खबरें और भी हैं...