मिशन-एडमिशन:आवेदनों के लिए तरसे केयू कैंपस के कई स्नातकोत्तर कोर्सेज

कुरुक्षेत्र20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एमटेक माइक्रो इलेक्ट्रॉनिक्स वीएलएसआई डिजाइन की 30 सीट के लिए पहुंचे महज दो आवेदन

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के कई कोर्सेज में जहां बंपर आवेदन आए हैं तो वहीं कई कोर्सेज ऐसे भी हैं जो आवेदनों के लिए तरस गए हैं। स्नातकोत्तर के दाखिलों के लिए चार अक्टूबर अंतिम तिथि निर्धारित की गई थी। केयू में 171 कोर्सेज के लिए 27816 आवेदन फार्म पहुंचे हैं। इनमें से कुछ कोर्सेज को जहां सीट से कई गुणा आवेदन मिले तो वहीं कई कोर्सेज में सीट से आधे भी आवेदन नहीं पहुंच पाए।

केयू में आवेदन प्रक्रिया 17 अगस्त से शुरु होकर चार अक्टूबर को रात 12 बजे तक चली। जिन कोर्सेज को आवेदन कम मिले, उनमें साइंस कोर्सेज और कंप्यूटर कोर्सेज भी शामिल हैं। केयू में सबसे कम महज दो आवेदन एमटेक माइक्रो इलेक्ट्रॉनिक्स वीएलएसआई डिजाइन की 30 सीट के लिए पहुंचे हैं। अभी विद्यार्थी पीजी डिप्लोमा, एडवांस्ड डिप्लोमा, डिप्लोमा व सर्टिफिकेट कोर्सेज में ऑनलाइन दाखिले के लिए 18 अक्टूबर तक आवेदन कर सकते हैं।

जर्मन, फ्रेंच व उर्दू में भी नहीं रुझान

केयू में चलाए जा रहे जर्मन, फ्रेंच और उर्दू भाषा के कोर्सेज में भी विद्यार्थियों का बेहद कम रुझान देखने को मिल रहा है। इन तीनों ही कोर्सेज में सीटों से आधे आवेदन भी नहीं आ पाए हैं। केयू के इन कोर्सेज को बेहद कम संख्या में आवेदन मिलने के कारण आने वाले समय में इन कोर्सेज का संचालन करना भी यूनिवर्सिटी के लिए मुश्किल हो सकती है।

11 अक्टूबर को लगेगी पहली मेरिट लिस्ट| केयू के दाखिला सैल के इंचार्ज प्रो. राजेंद्र नाथ ने बताया कि एमए, एमएससी और एमकॉम कोर्सेज में दाखिला संबंधी पहली मेरिट सूची 11 अक्टूबर को लगेगी और 13 अक्टूबर तक फीस जमा करवानी होगी। दूसरी मेरिट सूची 18 अक्टूबर और फीस 21 अक्टूबर तक, तीसरी मेरिट लिस्ट 25 अक्टूबर व फीस 27 अक्टूबर तक जमा करवानी होगी। उन्होंने बताया कि दाखिला संबंधी अंतिम मेरिट सूची आठ नवंबर और फीस 10 नवंबर तक जमा करवानी होगी।

एडवांस डिप्लोमा जर्मन 60 15 एमटेक एनर्जी एंड एनवायरमेंट 18 22 बीटेक के बाद जॉब को देते हैं विद्यार्थी प्राथमिकता| केयू के डीन ऑफ कॉलेज प्रो. अनिल वोहरा ने बताया कि बीटेक के बाद विद्यार्थी जॉब को प्राथमिकता देते हैं। इसी कारण अधिकतर एमटेक कोर्सेज में सीट खाली रह जाती हैं। यही स्थिति एनआईटी में भी एमटेक कोर्सेज के साथ है। प्रो. वोहरा ने कहा कि कोर्सेज में आवेदन विद्यार्थियों के रुझान के अनुसार होते हैं। बीटेक के बाद बेहद कम संख्या में विद्यार्थी एमटेक के लिए आते हैं।

किस कोर्स में आए कितने आवेदन
कोर्स का नाम सीटआवदेन
एमटेक इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग 12 5
एमटेक कंप्यूटर साइंस 60 26
एमटेक अप्लाइड जियोलॉजी 24 13
पीजी डिप्लोमा इन फ्लोरिकल्चर 20 10
एडवांस डिप्लोमा फ्रेंच 60 18
एमटेक माइक्रो इलेक्ट्रॉनिक्स वीएलएसआई डिजाइन 30 2
डिप्लोमा इन उर्दू 40 8

खबरें और भी हैं...