विद्यार्थीयों को मिल सकेगी सुविधा:एसआईएएसटीई झज्जर की तर्ज पर डाइट पलवल इसी सत्र से कराएगा में 4 वर्षीय इंटीग्रेटिड बीएससी बीएड और बीए बीएड कोर्स

कुरुक्षेत्र2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 12वीं के बाद इन कोर्सेज में दाखिला लेने से विद्यार्थी बचा सकेंगे एक साल का समय

स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडी इन टीचर एजुकेशन (एसआईएएसटीई) झज्जर की तर्ज पर इस सत्र से ही डाइट पलवल व गुरुराम में चार वर्षीय बीएससी मेडिकल व नॉन मेडिकल बीएड और बीए बीएड कोर्स शुरू होगा। एसआईएएसटीई झज्जर के निदेशक डॉ. ऋषि गोयल ने गुरुवार को डाइट पलवल में इन कोर्सेज के बारे में बताया।

उन्होंने कहा कि इन कोर्सेज के लिए नई शिक्षा नीति 2020 के अनुसार हरियाणा सरकार ने अनुमति प्रदान कर दी है। यह कोर्स जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डाइट) पलवल (कुरुक्षेत्र) व गुरुराम में शुरू किए जाएंगे। इसके लिए पोर्टल बनाकर ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। झज्जर का स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडी इन टीचर एजुकेशन प्रदेश का पहला व देश का ऐसा छठा संस्थान है, जिसमें ये कोर्सेज करवाए जा रहे हैं।

इन कोर्सेज के लिए देशभर से विद्यार्थी आवेदन करते हैं। डाइट पलवल व गुरुराम में शुरू हुए इन कोर्सेज में दाखिले के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 19 अक्टूबर 2021 निर्धारित की गई है।

विद्यार्थी बचा सकते हैं एक साल : डॉ. गोयल ने बताया कि अध्यापक बनने के इच्छुक युवाओं का इस कोर्स की ओर रुझान इसलिए है कि वे 12वीं कक्षा की परीक्षा पास करने के तुरंत बाद चार वर्षीय इंटीग्रेटिड बीएड कोर्स में दाखिला ले सकते हैं। इसमें बीएससी बीएड या बीए बीएड चार साल में एक साथ ही हो जाएगी और विद्यार्थी अपना एक साल बचा सकेंगे। अगर विद्यार्थी बीए या बीएससी के बाद बीएड करते हैं तो बीएड दो साल की है। नई शिक्षा नीति 2020 में यह प्रावधान है कि वर्ष 2030 के बाद केवल चार वर्षीय इंटीग्रेटिड बीएड प्रोग्राम की पढ़ाई करने वाले विद्यार्थी ही शिक्षक भर्ती के लिए योग्य होगा। डाइट प्राचार्या नमिता कौशिक ने बताया एससीईआरटी हरियाणा और एसआईएएसटीई झज्जर के निदेशक डॉ. ऋषि गोयल के प्रयासों से पूरे प्रदेश में डाइट पलवल और गुरुराम को ही ये कोर्सेज मिले हैं।

तीनों कोर्सेज में होंगी 100 सीट : प्राचार्य नमिता कौशिक

डाइट पलवल की प्राचार्या ने बताया कि बीएससी बीएड व बीए बीएड कोर्स के लिए कुल 100 सीट निर्धारित की गई हैं। इनमें से बीएससी बीएड मेडिकल और नॉन मेडिकल की 35-35 और बीए बीएड की 30 सीट निर्धारित की गई हैं। इन कोर्सेज के लिए डाइट पलवल ने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से संबद्धता की प्रक्रिया को भी पूरा कर लिया है। उन्होंने बताया कि डाइट में इस कोर्स के लिए उपयुक्त जरुरी संसाधन एवं योग्य स्टाफ उपलब्ध है। इस मौके पर डॉ. ऋषिपाल मथाना, प्रवीण टामक, अमित टामक, बलवान सिंह अमीन, राहुल टामक और दीपक टामक मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...