पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पर्व:29 साल बाद आया रक्षाबंधन पर सर्वार्थ सिद्धि और दीर्घायु आयुष्मान का संयोग

कुरुक्षेत्र14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भाई-बहन के प्रेम उत्सव का प्रतीक पर्व रक्षाबंधन इस बार तीन अगस्त को कई शुभ संयोग में मनाया जाएगा। इस बार श्रावणी पूर्णिमा के साथ श्रावण नक्षत्र भी पड़ रहा है। इसलिए पर्व की शुभता और बढ़ जाती है। श्रावणी नक्षत्र का संयोग पूरे दिन रहेगा। इस साल सावन के आखिरी सोमवार (3 अगस्त) पर रक्षाबंधन का त्योहार पड़ रहा है।

वैदिक ज्योतिष अनुसंधान केंद्र के ज्योतिषाचार्य बृज मोहन भार्गव ने बताया कि भाई-बहन का पवित्र त्योहार रक्षाबंधन इस बार बेहद खास होगा, क्योंकि इस साल रक्षाबंधन पर सर्वार्थ सिद्धि और दीर्घायु आयुष्मान का शुभ संयोग बन रहा है। रक्षाबंधन पर ऐसा शुभ संयोग 29 साल बाद आया है। साथ ही इस साल भद्रा और ग्रहण का साया भी रक्षाबंधन पर नहीं पड़ रहा है।

रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त : श्री दुर्गा देवी मंदिर पिपली के अध्य्क्ष ज्योतिष व वास्तु आचार्य डॉ. सुरेश मिश्रा ने बताएं विशेष चौघड़िया मुहूर्त। 3 अगस्त को भद्रा सुबह 9 बजकर 29 मिनट तक है। राखी बांधने का पर्व सुबह 9 बजकर 30 मिनट से शुरू हो जाएगा। शुभ चौघड़िया प्रातः 9 बजकर 30 मिनट से 10 बजकर 48तक।, चर चैघड़िया : दोपहर 2 बजकर 1 0 मिनट से लेकर 3 बजकर 51 मिनट तक।

ज्योतिषाचार्य बृज मोहन भार्गव ने बताया कि इस साल रक्षाबंधन पर सर्वार्थ सिद्धि और दीर्घायु आयुष्मान योग के साथ ही सूर्य शनि के समसप्तक योग, सोमवती पूर्णिमा, मकर का चंद्रमा श्रवण नक्षत्र, उत्तराषाढ़ा नक्षत्र और प्रीति योग बन रहा है। इसके पहले यह संयोग साल 1991 में बना था। इस संयोग को कृषि क्षेत्र के लिए विशेष फलदायी माना जा रहा है।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें