खुलासा:सेक्टर-3 में 14 मरले के प्लाट की रजिस्ट्री मामला-आरोपी महिला के दो और साथी काबू

कुरुक्षेत्र7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पकड़े गए आरोपी पुलिस की गिरफ्त में। - Dainik Bhaskar
पकड़े गए आरोपी पुलिस की गिरफ्त में।
  • आरोपी महिला ने प्लाटधारक के नाम से बनवाया था खुद का आधार, फिर हुडा के रिकॉर्ड में कराया अपडेट

कुरुक्षेत्र के सेक्टर-3 में महिला का 14 मरले के प्लॉट को फर्जी कागजात के आधार पर धोखाधड़ी कर अपने नाम करवाने के मामले में संलिप्त महिला के बाद उसके दो और साथियों को पुलिस ने पकड़ा है। आरोपियों की पहचान असंध के गांव पोपड़ा निवासी अंकित व निसिंग के सिंघडा हाल किराएदार काछवा निवासी दिलशाद के तौर पर हुई है। दोनों को गिरफ्तारी के बाद कोर्ट में पेश किया।

जहां से आरोपी अंकित को जेल भेज दिया। जबकि दिलशाद को 19 जनवरी तक रिमांड पर लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। आरोपियों ने पंचकूला में भी फर्जी कागजात के आधार पर एक प्लॉट की धोखे से रजिस्ट्री करवाई है। उसमें बबली की जगह अन्य महिला शामिल है। गिरोह का मास्टरमाइंड फरार है।

बबली ने प्लॉट मालिक महिला के नाम से बनवाया था आधार कार्ड : जिला पुलिस की स्पेशल डिटेक्टिव यूनिट से जांच अधिकारी एएसआई शमशेर सिंह ने बताया करनाल निवासी महिला बबली से पूछताछ के बाद उसके दो और साथियों करनाल के असंध के गांव पोपड़ा निवासी अंकित व निसिंग करनाल के सिंघडा हाल किराएदार काछवा निवासी दिलशाद को गिरफ्तार किया है।

बबली व गिरोह के अन्य सदस्यों ने मिलकर पहले कुरुक्षेत्र में यह जानकारी ली, किस एरिया में हुडा में प्लाट खाली पड़े हैं। सेक्टर-तीन में निसिंग निवासी प्रवेश रानी का 14 मरले के प्लाट बारे जानकारी मिलने पर बबली ने शातिराना ढंग से आधार केंद्र से प्रवेश रानी व उसके पते पर अपना आधार कार्ड बनवाया। इसके बाद कुरुक्षेत्र के डीलर्स को कहा कि वह अपने प्लाट को बेचना चाहती है। डीलर्स से मिलकर महिला ने हुडा विभाग में उसका आधार कार्ड अपडेट करा दिया।

जिससे हुडा के रिकॉर्ड में भी बबली की फिंगर प्रिंट दर्ज हो गए। डीलर्स ने 66 लाख रुपए में सौदा तय करा प्लाट का बयाना करवा लिया और आगे उसे किसी पार्टी को 80 लाख रुपए में रजिस्ट्री करवा दी। पकड़ा गया अंकित बबली का किराए के मकान में पड़ोसी है। जबकि अब काछवा में किराएदार के तौर पर रह रहा दिलशाद डीलर्स से बातचीत कराने से लेकर अन्य पूरे फर्जीवाड़े में शामिल है। उसके हिस्से में प्लाट बेचने पर मिला पैसा आया है। पुलिस आरोपी महिला बबली व दिलशाद को रिमांड पर लिया है।

निसिंग की महिला ने कराया था केस दर्ज
बता दें 27 दिसंबर 2021 को करनाल के निसिंग की प्रवेश रानी ने सदर थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि उसका कुरुक्षेत्र के सेक्टर-तीन में 14 मरले का प्लॉट था। उसने 2010 में प्लॉट खरीदने के बाद 25 प्रतिशत हिस्से का निर्माण कर लिया था। उसने मकान खुराना इंजीनियरिंग वर्क्स प्राइवेट लिमिटेड, नई दिल्ली को किराए पर दिया था। वे लगातार किराए की अदायगी कर रहा था, लेकिन दिसम्बर 2021 का किराया देने से उसने मना कर दिया। जब उसने बात कि तो वह कहना लगा कि मकान को नीनू रानी को बेच दिया है। अब वह भी उसके ऊपर किराया देने के लिए दबाव बना रही है।

उसने व उसके पति ने इस बारे में एचएसवीपी हुडा कार्यालय कुरुक्षेत्र से पूछताछ की तो पता चला कि उसका मकान नीनू रानी के नाम पर ट्रांसफर हो गया है। छानबीन की तो पता चला महिला ने फर्जी कागजातों को आधार पर धोखाधड़ी से उसके मकान की रजिस्ट्री अपने नाम पर करवाई है। शिकायत पर थाना सदर पिपली पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज किया था। जांच स्पेशल डिटेक्टिव यूनिट से एएसआई शमशेर सिंह की टीम को सौंपी थी। 11 जनवरी को छानबीन के बाद पुलिस ने करनाल वासी महिला बबली को गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया था।

खबरें और भी हैं...