पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

भास्कर फॉलोअप:राइस मिल अटैच करने के विरोध में राइस मिलर्स एसोसिएशन, अब कोर्ट जाने की तैयारी में

कुरुक्षेत्र14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 83 हजार क्विंटल चावल कम मिलने पर साढ़े 25 करोड़ की डाली है रिकवरी, 45 मिल अटैच

कुछ दिन पहले राइस मिलों की स्पेशल फिजिकल वेरिफिकेशन के बाद चावल स्टॉक कम मिलने और 15 जुलाई तक चावल डिलीवरी न देने पर सरकार की तरफ से जिले में 45 राइस मिलों को अटैच किया जा रहा है। इस फैसले को लेकर राइस मिलर्स में जहां खलबली मची है।

वहीं मिलर्स एसोसिएशन विरोध में उतर आई है। मिलर्स कोर्ट में जाने की तैयारी भी कर रहे हैं। जिले में करीब 45 मिलों को अटैच किया जाएगा। इन पर करीब साढ़े 25 करोड़ की रिकवरी चावल कम होने के शक में डाली है। खाद्य आपूर्ति विभाग आदेश कर चुका है कि अटैचमेंट के बाद भी रिकवरी नहीं दी तो उनकी प्रॉपर्टी जब्त होगी। सरकार ने डेट बढ़ाकर 31 अगस्त तक कर चुकी है। इस डेट तक जो मिलर्स डिलीवरी देंगे, उनकी प्रॉपर्टी अटैच नहीं की जाएगी। अभी अटैच करने की कार्रवाई चल रही है।

हरियाणा राइस मिलर्स एंव डीलर एसोसिएशन के चेयरमैन ज्वैल सिंगला ने कहा कि इस कार्रवाई के विरोध में मिलर्स की मीटिंग बुलाई जा रही है। एसोसिएशन इसके खिलाफ कोर्ट में केस दायर करेगी। मिलर्स 31 अगस्त तक पूरा चावल लौटाने को तैयार हैं, लेकिन विभाग रिकवरी पर अड़ा है।

बता दें कि कुछ दिन पहले डीसी के आदेश पर जिले में राइस मिलों की स्पेशल पीवी हुई थी। 15 जुलाई तक मिलों को धान के बदले चावल तैयार कर सरकार को डिलीवरी भी देनी थी, लेकिन तय समय पर अधिकांश की तरफ से पूरी डिलीवरी नहीं दी गई। इसी बीच जिला प्रशासन ने स्पेशल पीवी भी कराई। इस सीजन में मिलिंग के लिए मिलर्स को 19 लाख 56 हजार 450 क्विंटल धान दिया था। इनमें से 83 हजार क्विंटल चावल कम मिला है। इसके लिए विभाग ने साढ़े 25 करोड़ की रिकवरी डाली है।

अधिकारियों पर भी हो कार्रवाई
वहीं मिलर्स का कहना है कि अब विभाग ने स्टॉक में कमी और डिलीवरी में देरी के लिए रिकवरी डाली है। जब मिलर्स की तरफ से देरी हो रही थी तो क्यों नहीं अधिकारियों ने समय रहते डिलीवरी के लिए कदम उठाया। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के चलते मिलर्स को डिलीवरी देने में कुछ दिक्कत हुई, लेकिन डिलीवरी में देरी के लिए सरकारी एजेंसियां भी दोषी हैं।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें