दुखद:आशंका हुई सच, करनाल के नडाना के पास नहर से मिला बैंक मैनेजर का शव

कुरुक्षेत्रएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • तबादले से परेशान था बैंक मैनेजर, शक-तनाव में लगाई नहर में छलांग

लापता बैंक कर्मी को लेकर परिजनों व पुलिस की आशंका सच साबित हुई। जिस बैंक मैनेजर की स्कूटी ज्योतिसर दबखेड़ी के बीच नहर पटरी पर मिली थी। उसका शव गांव नडाना के पास नहर में मिला।  करीब 56 वर्षीय बैंक मैनेजर भूपेंद्र सिंह ने नहर में कूद सुसाइड किया। वह कुछ दिन पहले एक महिला द्वारा आरोप लगाने और तबादले से आहत था। मैनेजर भूपेंद्र सिंह सुसाइड के बाद उसके पैतृक गांव अरुणाय में अंतिम संस्कार किया गया।

मृतक मैनेजर भूपेंद्र मोरथली कॉपरेटिव बैंक में कार्यरत था। सोमवार को वह घर से ड्यूटी जाने की बोल निकला था, लेकिन दोबारा वापस नहीं पहुंचा। तब परिजन तलाश में लगे। देर शाम को उसकी स्कूटी नरवाना ब्रांच के किनारे मिली। जिस पर परिजनों को अनिष्ट की आशंका सता रही थी। वहीं तरावड़ी के पास नडॉना गांव के पास देर रात एक व्यक्ति का शव मिला। पता चलने पर परिजन वहां पहुंचे। तब उसकी शिनाख्त हुई।
महिला ने लगाया आरोप, हुआ समझौता
कुछ दिन पहले उसने बैंक में एक महिला व पुरुष कर्मी को संदिग्ध हालत में देख लिया था। जिसके बाद उल्टा मैनेजर पर ही महिला ने उस पर अभद्रता का आरोप लगा दिया। मामला पुलिस तक पहुंचा। तब पुलिस ने दोनों पक्षों में हुई बातचीत के बाद मामला सुलझा दिया। दोनों पक्षों में राजीनामा हो गया, लेकिन इसी बीच विभाग ने मैनेजर भूपेंद्र का तबादला गांव लुखी की शाखा में कर दिया। इन सब कारणों से वह मानसिक तनाव में आ गया।

दो दिन पहले जब वह घर से ड्यूटी पर जाने के लिए निकला तो ज्योतिसर नहर पर पहुंच गया। जहां से उसने नहर में छलांग लगा दी। परिजनों से उसका कोई संपर्क नहीं हुआ तो उसकी तलाश शुरू की। उसकी स्कूटी दबखेड़ी गांव के पास नहर किनारे मिली। सूचना पर पुलिस भी मैनेजर की तलाश में जुट गई। उसके मोबाइल की लोकेशन दबखेड़ी गांव के आसपास पाई गई। देर रात पता चला कि गांव नडाना के पास नहर से एक डेड बॉडी मिली है। जिसके बाद शिनाख्त के लिए परिजन वहां पहुंचे। मृतक की शिनाख्त मैनेजर के तौर पर हुई।

खबरें और भी हैं...