पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पुरोहितों में रोष:सन्निहित, ब्रह्मसरोवर व सरस्वती तीर्थ पिहोवा में आज स्नान, दान व पूजा-पाठ करने पर रहेगा प्रतिबंध

कुरुक्षेत्र3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अमावस्या पर श्रद्धालुओं के आने पर प्रशासन के रोक लगाने पर जिले के पुरोहितों में रोष

कोरोना के चलते जिले के सरोवरों, खासकर ब्रह्मसरोवर व सन्निहित पर प्रशासन ने अमावस्या पर भीड़ जुटने पर पाबंदी लगाई है। बुधवार को श्रद्धालु यहां स्नान दान व पूजा पाठ के लिए एकत्रित नहीं हो सकेंगे। यही नहीं लोगों को सरोवरों पर जाने से रोकने के लिए बेरिकेडिंग की जाएगी।

वहीं प्रशासन के इस फैसले से तीर्थ पुरोहितों में रोष है। पुरोहितों का कहना है कि जब बाजार व संस्थान खुले हैं तो सरोवरों पर स्नान दान और पूजा पाठ पर पाबंदी लगाने का कोई औचित्य नहीं है।

हर बार जुटती है भीड़ : बता दें कि कोरोना काल में हर अमावस्या पर सरोवरों पर पाबंदी लगाई जा रही है, लेकिन लोग फिर भी चोरी छिपे पहुंचते हैं। मंगलवार को चौदस पर भी सैकड़ों की संख्या में लोग, खासकर महिलाएं पहुंची थी। चौदस के दिन सन्निहित में लता उतारने की परंपरा है। किसी के निधन के उपरांत यह परंपरा है।

आज भीड़ की आशंका, लगी पाबंदी : डीसी शरणदीप कौर बराड़ ने 13 जनवरी को अमावस्या को देखते हुए सरोवरों पर पाबंदी लगाई है। अमावस्या पर काफी संख्या में नजदीकी जिलों कैथल, जींद, पानीपत, करनाल से भारी संख्या में श्रद्धालुओं के आने की सम्भावना है।

डीसी ने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार कोविड-19 के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए अमावस्या के दृष्टिगत ब्रह्मसरोवर, सन्निहित व सरस्वती तीर्थ पिहोवा में इकट्ठा होने व धार्मिक अनुष्ठान करने पर 13 जनवरी को प्रतिबंध लगाया है।

वहीं प्रशासन के इस फैसले से पुरोहितों में रोष है। श्री ब्राह्मण एवं तीर्थोंद्वार सभा के मुख्य सलाहकार जयनारायण शर्मा व उपप्रधान रामपाल शर्मा ने कहा कि अब बाजारों से लेकर संस्थान तक खुल चुके हैं। सभी मंदिर भी काफी पहले ही खोले जा चुके हैं।

जहां काफी भीड़ रहती है। ऐसे में सरोवरों पर पाबंदी का कोई औचित्य नहीं रह जाता। यहां कोविड गाइडलाइन के तहत पूजा पाठ व पित्तरों के निमित्त तर्पण करने की अनुमति होनी चाहिए। तीर्थ पुरोहित गाइडलाइन की पालना करते हुए पूजा पाठ करा सकते हैं। कहा कि अमावस्या जैसे मौकों पर ही पुरोहितों की कुछ आमदन होती है। जिससे उनका घर परिवार चलता है। पिछले लंबे समय से पुरोहित समाज आर्थिक दिक्कतें झेल रहा है।

डीसी के निर्देश पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट रखेंगे नजर

मंगलवार को जारी आदेशों में कहा कि कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के मध्यनजर दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 22(1)व 23(2) के तहत 13 जनवरी को सायं तक कुरुक्षेत्र के ब्रह्मसरोवर, सन्निहित सरोवर के लिए नायब तहसीलदार थानेसर व पिहोवा सरस्वती तीर्थ के लिए तहसीलदार पिहोवा ड्यूटी मजिस्टे्रट नियुक्त किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना के चलते तीर्थ पर पूजा-पाठ व धार्मिक अनुष्ठान करने के लिए न आए और प्रशासन का सहयोग करें।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपके स्वाभिमान और आत्म बल को बढ़ाने में भरपूर योगदान दे रहे हैं। काम के प्रति समर्पण आपको नई उपलब्धियां हासिल करवाएगा। तथा कर्म और पुरुषार्थ के माध्यम से आप बेहतरीन सफलता...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...

  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser