पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कॉलेज के नामकरण को लेकर विवाद:ग्रामीणों ने खेड़ी रामनगर में बन रहे नर्सिंग कॉलेज का नाम गुरु ब्रह्मानंद के नाम रखने की मांग की

कुरुक्षेत्र24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कुरुक्षेत्र। खेड़ी रामनगर की चौपाल में नर्सिंग कॉलेज के नामकरण को लेकर पंचायत करते ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
कुरुक्षेत्र। खेड़ी रामनगर की चौपाल में नर्सिंग कॉलेज के नामकरण को लेकर पंचायत करते ग्रामीण।
  • ग्रामीणों ने पंचायत कर तीन प्रस्ताव किए पास

गांव खेड़ी रामनगर में बन रहे जिले के पहले राजकीय नर्सिंग कॉलेज के नामकरण को लेकर विवाद शुरू हो गया है। ग्रामीणों ने रविवार को बैठक कर आरोप लगाया कि सरकार इस कॉलेज का नाम बिना ग्रामीणों की सहमति से महाराजा शूर सैनी के नाम पर रखने की तैयारी कर रही है।

ग्रामीणों ने कहा कि जिस गांव ने जमीन दी, उसके लोगों से सरकार ने नामकरण को लेकर एक बार भी बातचीत नहीं की। यह पूरी तरह से गलत है। गांव की चौपाल में रविवार सुबह हुई बैठक में ग्रामीण धर्मपाल चौधरी डीपी, फतेह सिंह, कृष्ण लाल, चमेल सिंह, सतबीर बत्तान, धर्मवीर, रमेश कुमार, रोशन लाल, मनोज कुमार, दीपक कुमार और अनिल कुमार ने कहा कि सभी ग्रामीणों ने इस बारे में चर्चा की है।

ग्रामीण चाहते हैं कि गांव में बन रहे राजकीय कॉलेज का नाम गुरु ब्रह्मानंद राजकीय नर्सिंग कॉलेज खेड़ी रामनगर हो। ग्रामीणों ने कहा कि गांव की बेशकीमती पंचायती जमीन को सरकार को कॉलेज बनाने के लिए गांव ने दिया है। ऐसे में इस कॉलेज का नाम सभी ग्रामीणों की सहमति से ही रखा जाना चाहिए। अगर ऐसा नहीं हुआ तो पूरा गांव इसके विरोध में उतरेगा।

दाखिलों में मिले गांव की बेटियों को लाभ

गांव खेड़ी रामनगर के लोगों ने कहा कि राजकीय नर्सिंग कॉलेज में होने वाले दाखिलों में गांव की बेटियों के लिए सीट आरक्षित होनी चाहिएं। ताकि गांव में बन रहे कॉलेज का लाभ गांव को मिल सके। इसके साथ ही कॉलेज में डीसी रेट पर लगने वाले कर्मचारियों में भी गांव के योग्यता पूरी करने वाले लोगों को ही लगाना चाहिए।

इससे गांव में कॉलेज खुलने का लाभ ग्रामीणों को मिल पाएगा। ग्रामीणों ने कहा कि गांव ने अपनी जमीन दी है, ऐसे में सरकार को भी गांव का ख्याल रखना चाहिए। धर्मपाल चौधरी डीपी ने कहा कि सभी ग्रामीणों ने यह फैसला लिया है कि इन तीनों प्रस्तावों को लेकर सोमवार को प्रदेश सरकार के नाम ज्ञापन सौंपकर इन मांगों को पूरा करने की अपील की जाएगी।

खबरें और भी हैं...