तीन घंटे में पाया गया काबू:शोरूम में आग से लाखों का कपड़ा व फिटिंग जली

लाडवा22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लाडवा| मेन बाजार में कपड़े की दुकान में लगी आग को बुझाने का प्रयास करते लोग। - Dainik Bhaskar
लाडवा| मेन बाजार में कपड़े की दुकान में लगी आग को बुझाने का प्रयास करते लोग।
  • फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियों ने तीन घंटे की मशक्कत के बाद आग पर पाया काबू, आसपास के दुकानदारों ने खाली की दुकानें

गुरुवार रात जहां लोग दीपावली मनाने में व्यस्त थे। वहीं लाडवा के मेन बाजार में एक कपड़े की दुकान में आग लगने से लाखों रुपए का सामान जल गया। जैसे ही आसपास के दुकानदारों को पता चला तो वह दुकानदार एकत्रित होना शुरू हो गए। उप दमकल विभाग के कर्मचारियों को सूचना दी। साथ ही दुकान के मालिक को भी अन्य दुकानदारों द्वारा सूचित किया कि उनकी दुकान में आग लगी है।

रात 9 बजे लगी आग : दुकान के मालिक हरीश कुमार ने बताया कि गुरुवार रात को वह लगभग साढ़े सात बजे दुकान को बंद कर घर में दीपावली की पूजा करने के लिए चले गए थे। रात को लगभग साढ़े 9 बजे उनके पास फोन आया कि दुकान में आग लगी है। आनन-फानन में वह अपने दूसरे भाइयों डिम्पल गुम्बर व बिट्टू गुंबर के साथ दुकान पर पहुंचे तो देखा कि उनकी दुकान में आग लगी थी। उन्होंने बताया कि उनकी तीन दुकानों में कपड़ा रखा था जो जलकर राख हो गया है।

इसके साथ-साथ उनकी दुकानों के ऊपर दो गोदाम और बने थे। आग इतनी तेज थी कि उनमें भी आग की लपटें पहुंच गई और उनमें रखा सभी कपड़ा, फिटिंग व अन्य सामान जलकर राख हो गया। उन्होंने बताया कि इससे उन्हें लाखों रुपए का नुकसान हो गया। लेकिन आग लगने के कारणों का अभी तक पता नहीं चला है। वहीं शुक्रवार को सीन ऑफ क्राइम की टीम के डॉ. चंद्रशेखर ने मौके का मुआयना किया और वहां से कुछ सामान आदि एकत्रित किया। तीन घंटे में पाया काबू : उप दमकल विभाग की दो गाड़ियों को आग पर काबू पाने में लगभग तीन से चार घंटे का समय लग गया। वहीं दुकानदारों द्वारा शहर की बिजली सप्लाई भी बंद करवानी पड़ी। इस कारण दीपावली की रात को जहां पूरे देश में रोशनी जगमगा रही थी, वही इस आग के कारण लाडवा शहर अंधेरे में डूबा था।

पुलिस अधिकारी व कर्मचारी भी मौके पर पहुंचे। उप दमकल विभाग के कर्मचारियों द्वारा कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। आसपास के दुकानदारों ने दुकान का सामान बाहर निकालकर दुकान खाली कर दी ताकि किसी दूसरी दुकान में आग न लग पाए।

खबरें और भी हैं...