दिवाली पर परिवार में आई दोहरी खुशी:फेसबुक पर परिवार के साथ देखी फोटो तो पत्नी व बच्चों ने बनाया मिलने को दबाव, खाना तक छोड़ा

लाडवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लाडवा | वार्ड-6 विकास नगर में घर लौटे नंदलाल का मुंह मीठा करवाते परिवार के सदस्य। - Dainik Bhaskar
लाडवा | वार्ड-6 विकास नगर में घर लौटे नंदलाल का मुंह मीठा करवाते परिवार के सदस्य।
  • 21 साल पहले घर से निकला युवक दिवाली के दिन परिवार के साथ लौटा

लाडवा के वार्ड नंबर 6 विकास नगर में एक परिवार में लगभग 21 वर्ष बाद दीपावली के अवसर पर घर में लौटी खुशियां। जिसके कारण घर में रह रहे बुजुर्ग माता-पिता व भाई-भाभी में खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा। विकास नगर निवासी मोहन लाल ने बताया कि लगभग 21 वर्ष पहले उनका छोटा लड़का 22 अगस्त 2000 को बिना बताए घर से चला गया था। जोकि 21 वर्ष के बाद अपनी शादी कर व अपने 6 साल के लड़के के साथ दीपावली के अवसर पर गुरुवार को घर लौट आया है। उन्होंने कहा कि उनके लिए यह दीपावली बंपर से कम नहीं है।

उन्होंने कहा कि 21 साल से उनकी आंखें छोटे बेटे नंदलाल वर्मा को देखने के लिए तरस रही थी। उन्होंने कभी भी यह आस नहीं छोड़ी कि उनका बेटा कभी वापस नहीं आएगा। उन्होंने कहा कि जीवन का सबसे बड़ा उपहार उन्हें इस वर्ष दीपावली पर्व पर प्राप्त हुआ है। दरवाजे की तरफ लगी रहती थी मेरी आंखें : मां नंदलाल वर्मा की माता अमर वती ने बताया कि वह पिछले 21 साल से दरवाजे की तरफ आंखें लगाए व साधु संतों से बातचीत करने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही थी कि कब उनका बेटा वापस आएगा।

उन्होंने कहा कि कई लोगों ने उनसे कहा कि वह उसका इंतजार छोड़ दें, लेकिन उन्होंने अपना विश्वास नहीं छोड़ा। आखिर में 21 साल बाद उनका बेटा घर वापस आ गया। जो कि उनके लिए बहुत खुशी की बात है। अब हमेशा अपने परिवार के साथ रहूंगा : नंदलाल 21 साल बाद वापस लौटे नंदलाल वर्मा ने कहा कि सोशल मीडिया के माध्यम से आज मैं अपने परिवार के पास वापस आ पाया हूं। उन्होंने कहा कि वह सन् 2000 में अचानक घर से चले गए थे और वह मुंबई से कोलकत्ता ट्रक चलाते रहे और हमेशा के लिए कोलकाता में शिफ्ट हो गए। उन्होंने 2014 में शादी कर अपना परिवार भी बसा लिया।

खबरें और भी हैं...