पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिक्षक दिवस:गुढ़ा के सरकारी स्कूल में मनाया शिक्षक दिवस, जीवन के अनुभवों से अच्छे-बुरेे के बीच फर्क करना भी सिखाते

लाडवा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अच्छा शिक्षक वही है जो बच्चों की जरूरतों को समझ कर बच्चों को पढ़ने के लिए प्रेरित करें

लाडवा के गांव गुढ़ा के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में मुखिया राजेश कुमार की अध्यक्षता में शिक्षक दिवस मनाया गया। विद्यालय मुखिया राजेश कुमार ने कहा कि डाॅ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन 1962 में भारत के राष्ट्रपति बने और उनके जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। उन्हें भारत रत्न से भी नवाजा गया। उन्होंने बताया कि शिक्षक केवल पढ़ाते ही नहीं, बल्कि जीवन के अनुभवों से अच्छे-बुरेे के बीच फर्क करना भी सिखाते हैं।

अच्छा शिक्षक वही है जो बच्चों की जरूरतों को समझ कर बच्चों को पढ़ने के लिए प्रेरित करें। बच्चों को अपने माता-पिता के साथ अपने गुरुजनों का भी सम्मान करना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज के युग में बच्चे अपने शिक्षकों के पांव छूने की बजाय हाय-हेलो में विश्वास करते हैं और जोकि सरासर गलत है। सभी बच्चों को अपने माता-पिता व गुरुओं के पांव छूकर आशीर्वाद लेना चाहिए। विद्यालय मुखिया ने सभी स्टाफ सदस्यों को उपहार देकर सम्मानित किया। विद्यालय के सभी स्टाफ सदस्यों ने विद्यालय मुखिया को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। मौके पर सुभाष चन्द्र, राजन धीमान, रछपाल, अंजू रानी, रवि यादव, जग बहादुर, अनिला, सुखबिंद्र, पंकज सुनिल व सुखवंत काैर आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...