पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एक्वायर जमीन बेची:प्रॉपर्टी डीलर-पूर्व तहसीलदार व पटवारी समेत 4 पर केस

मुलाना4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्राॅपर्टी डीलर ने 2012 में महिला काे बेचा 9 मरले का प्लाॅट, जबकि भूमि एक साल पहले एक्वायर हाे चुकी

मुलाना में रहे नायब तहसीलदार, पटवारी व दो अन्य लोगों पर कैंट की महिला ने एक्वायर की हुई 9 मरले जमीन धोखे से बेचने का आरोप लगाकर शिकायत गृहमंत्री को दी है। मुलाना पुलिस ने इस मामले में एसपी अम्बाला के निर्देश पर महिला पद्मा रानी की शिकायत पर सेवानिवृत तहसीलदार प्रताप सिंह, पटवारी बालक राम, नरेंद्र सभरवाल व विकास सभरवाल के खिलाफ केस दर्ज किया है।

पुलिस को दी शिकायत में कैंट निवासी पद्मा रानी ने बताया कि 2012 में उसने प्रॉपर्टी डीलर नरेंद्र सभरवाल से मुलाना में 9 मरले का प्लॉट खरीदा था। लेकिन उस रकबे का कब्जा व निशानदेही नहीं दी थी। बाद में उन्हें पता चला कि उपरोक्त रकबा में से कुछ जगह सरकार ने वर्ष 2011 में अधिग्रहण की हुई है। पद्मा रानी ने बताया कि इस मामले का पता करने के लिए वह पंचकूला तहसील में गई।

वहां उसे बताया गया कि इस जगह में से कुछ भूमि 2011 में सरकार ने अधिग्रहण कर ली गई थी, फिर आपके नाम 2012 में 9 मरले की रजिस्ट्री कैसे हो गई? महिला ने बताया कि पंचकूला ऑफिस से मुझे कहा कि 9 मरले से 4.05 मरले का रकबा जो सरकार द्वारा एक्वायर हुआ था, उसके पैसे हम आपके खाते में डाल रहे हैं। औपचारिकताएं पूरी करने के बाद एक्वायर की गई जमीन के पैसे उसके अकाउंट में आ गए।

उसे कहा कि एक्वायर किए रकबा में से जो बकाया 4.95 मरले जगह पड़ी है, उसकी आप निशानदेही प्राप्त कर लो। पीड़िता ने बताया कि उसके बाद वह डीलर नरेंद्र सभरवाल से मिली। डीलर ने निशानदेही करवाकर देने की बात कही, लेकिन नहीं करवाई। पीड़िता का कहना है कि नरेंद्र ने तहसीलदार व पटवारी के साथ मिलकर उसके साथ धोखाधड़ी की है। नरेंद्र का लड़का विकास उसे धमकाता है।

खबरें और भी हैं...