खनन माफिया गैंग ने रक्षक के तोड़े हाथ पांव::-नारायणगढ़ क्षेत्र की घटना, मुगल माजरा के निवर्तमान सरपंच समेत 13 पर केस

अंबाला/ नारायणगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
निजी अस्पताल में उपचाराधीन खनन रक्षक रवित कुमार - Dainik Bhaskar
निजी अस्पताल में उपचाराधीन खनन रक्षक रवित कुमार

अंबाला।

खनन माफिया गैंग ने नारायणगढ़ क्षेत्र में तैनात खनन रक्षक पर जानलेवा हमला कर हाथ पांव तोड़ दिए हैं। हमलावरों ने खनन रक्षक की सर्विस रिवॉल्वर छीन फायर भी की। गनीमत रही गोली उसकी बाजू से पास से गुजर गई। खनन रक्षक को अंबाला कैंट के निजी अस्पताल में दाखिल कराया गया है। घटना गत देर रात्रि की है। पुलिस ने खनन रक्षक रवित कुमार निवासी सेक्टर-A डिफेंस कॉलोनी अंबाला कैंट की शिकायत पर गांव मुगल माजरा के निवर्तमान सरपंच जसविंदर समेत 13 लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। इनमें तीन अज्ञात हमलावर भी शामिल हैं।पुलिस को दी शिकायत में खनन रक्षक रवित कुमार ने बताया कि वह भारतीय सेना से नायक के पद से सेवानिवृत्त होने के बाद 2 जुलाई 2021 से खान एवं भूविज्ञान विभाग अंबाला में पॉलिसी-2 के तहत बतौर खनन रक्षक सेवाएं दे रहे हैं। अवैध खनन की रोकथाम के लिए वे गत रात्रि नारायणगढ़ क्षेत्र में तैनात थे। यहां अपने साथी खनन रक्षक दयाल सिंह और राजेश कुमार उर्फ राजा के साथ सरकारी गाड़ी बोलेरो में सवार होकर रात करीब सवा 11 बजे खाना खाने वाटिका ढाबा रकबा गावं डेरा पर पहुंचे थे। यहां उन्होंने गाड़ी सर्विस स्टेशन के पास लगाई और उसके साथी खाना खाने चले गए। वह गाड़ी में ही बैठा रहा। इसी बीच कुलदीप उर्फ दीप्पी वासी गांव खेड़की खानपुर, मुगल माजरा के निवर्तमान सरपंच जसविंद्र, महिंद्र उर्फ मिहंदी वासी गांव टोका, भुरा वासी गांव झीड़ीवाला, रिंकु वासी गांव उज्जवल माजरी, पोल्ला वासी गांव मुगल माजरा तीन स्विफ्ट गाड़ियों में आए। पहले उन्होंने उससे बात करनी की बात कही। जैसे ही उसने अपनी गाड़ी की खिड़की खोली तो उन्होंने हमला कर दिया। बताया कि कुलदीप उर्फ दीप्पी ने रॉड से उसकी दोनों टांगों पर हमला किया। महिंद्र उर्फ मिहंदी ने डंडों से उसकी कमर पर वार किया। निवर्तमान सरपंच जसविंद्र, पोल्ला व रिंकु ने डंडों व लोहे की रॉड से हमला कर उसकी बाजू व टांग तोड़ दी। वहीं, भुरा ने नुकीले औजार से उसकी कमर में वार कर दिया। इस दौरान हमलावर रिंकू व कुलदीप उर्फ दीप्पी ने उसकी लाइसेंसी पिस्टल छीनी और रिंकू ने फायर कर दी। गनीमत रही कि गोली उसकी बायीं तरफ से निकल गई। इतना ही नहीं, हमलावरों ने उसकी सरकारी गाड़ी को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। हमले की भनक लगते ही उसके साथी खनन रक्षक दयाल सिंह व राजेश कुमार मौके पर पहुंचे, जिसके बाद हमलावर उसकी पिस्टल लेकर अपनी गाडि़यों में सवार होकर फरार हो गए।साथी खनन रक्षक से पूछा था कहां होबताया गया कि नारायणगढ़ निवासी प्रवीण धीमान ने खनन रक्षक दयाल सिंह से फोन करके पूछा था। दयाल सिंह ने बताया था कि वह वाटिका ढाबा डेरा पर खाना खा रहे हैं। बताया कि प्रवीन धीमान के साथ देवेंद्र वासी औखल, विक्रम उर्फ रांझा, विक्की उर्फ सुरेंद्र मलिक वासीयान बुढ़ाखेडा़ भी इस षड्यंत्र में शामिल हैं। कुलदीप उर्फ दीप्पी, निवर्तमान सरपंच जसविंदर सरपंच, महिंद्र उर्फ मिहंदी, भुरा, रिंकू, पोल्ला सहित तीन अज्ञात हमलावरों के साथ प्रवीण, देवेंद्र, विक्की उर्फ सुरेंद्र मलिक के साथ मिलकर हमला किया है।इन धाराओं के तहत हुआ केस दर्ज20B,148,149,186,307,323,332,353,379B,427 व 506 के तहत केस दर्ज किया है। थाना पुलिस नारायणगढ़ प्रभारी इंस्पेक्टर विजय ने बताया कि पुलिस ने शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।